बच्चों के साथ गलत हुआ तो हम सब जिम्मेदार, सलाखों में होने चाहिए अपराधी

बच्चों के साथ गलत हुआ तो हम सब जिम्मेदार, सलाखों में होने चाहिए अपराधी
If we go wrong with the children then we should all be responsible, cr,If we go wrong with the children then we should all be responsible, cr

Akash Mathur | Updated: 09 Oct 2019, 11:03:29 PM (IST) Bhilwara, Bhilwara, Rajasthan, India

पुलिस अधीक्षक हरेन्द्र महावर ने कहा कि बच्चों से गलत हरकत होने पर हम सब जिम्मेदार हैं। बच्चे विरोध नहीं कर सकते। इसके लिए जरूरी है कि हम सब मिलकर आवाज उठाए। बच्चों के साथ गलत हरकत करने वाला बाहर नहीं रह सकता। उसे कानून से सबक सिखाया जा सकता है। उसकी जगह जेल ही है।

भीलवाड़ा. पुलिस अधीक्षक हरेन्द्र महावर ने कहा कि बच्चों से गलत हरकत होने पर हम सब जिम्मेदार हैं। बच्चे विरोध नहीं कर सकते। इसके लिए जरूरी है कि हम सब मिलकर आवाज उठाए। बच्चों के साथ गलत हरकत करने वाला बाहर नहीं रह सकता। उसे कानून से सबक सिखाया जा सकता है। उसकी जगह जेल ही है। महावर बुधवार को सुभाषनगर थाने में सीएलजी सदस्यों की बैठक ले रहे थे। उन्होंने कहा कि लोग कानून हाथ में नहीं ले। बेवजह किसी की पिटाई नहीं करें। गलत लगने पर पुलिस का सहारा ले। अफवाह पर ध्यान नहीं दे।

एसपी महावर ने कहा कि परिजन बच्चों को ७०-८० हजार की बाइक दिला सकते है तो एक हजार का हेलमेट क्यों नहीं दिला सकते। चौराहे पर चालान से बचने के लिए टोपीनुमा हेलमेट लगा लेंगे, जो सुरक्षा की दृष्टि से सही नहीं। सड़क सुरक्षा कानून सबके लिए है। इसे अपनाकर हादसे रोक सकते हैं। अपराधियों पर नकेल कसने के लिए जरूरी है कि आमजन भी जिम्मेदारी समझे। महज पुलिस या प्रशासन ही जिम्मेदार नहीं है। इससे पहले नवनियुक्त थानाप्रभारी नवनीत व्यास ने अतिथियों का स्वागत किया। सीएलजी सदस्यों ने समस्याओं से अधिकारियों को अवगत कराया। एएसपी राजेश मीणा, डीएसपी भंवर रणधीरसिंह, पूर्व सभापति मधु जाजू, आशा रामावत, पार्षद मनीष पालीवाल मौजूद थे। अतिथियों ने थाना परिसर में पौधा लगाया।

तत्कालीन सीआइ की कार्यप्रणाली पर उठा सवाल

सीएलजी सदस्य चन्द्रशेखर शर्मा ने तत्कालीन सीआइ अजयकांत शर्मा की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए। कहा कि तीन माह पूर्व सांगानेरी गेट पर रात नौ बजे एक व्यक्ति डेयरी बूथ पर गल्ले से नकदी चुराकर भाग रहा था। लोगों ने पकड़ कर पुलिस को सौपा। सीआइ अजयकांत को रिपोर्ट दी। उसके बाद भी मुकदमा तक दर्ज नहीं किया। एेसे में अपराध की रोकथाम बेमानी बात लगती है।

इन मुद्दों पर भी चर्चा

- शिवाजी गार्डन के आसपास रात में लोग घूमने जाते हैं, वहां समाजकंटक भी डेरा डाले रहते है। वहां समुचित जाप्ता लगाया जाए।
- सांगानेरी गेट चौकी संवेदनशील इलाके है। यहां पर्याप्त जाप्ता नहीं है। सिपाही के भरोसे चौकी को रखा जाता है। एेसे में यहां अधिकारी लगाने की जरूरत।

- सर्किट हाउस के बाहर एक तरफा यातायात की व्यवस्था। लेकिन चित्तौडग़ढ़ की ओर से आ रहे वाहन नियमों की पालना नहीं करते। वह एक तरफ से होकर गुजरते है। इससे दुर्घटनाएं हो रही। एेसे में यातायात पुलिसकर्मी लगाने की जरूरत।
- क्षेत्र में बढ़ती चोरी और लूट की घटनाओं की रोकथाम के लिए प्रभावी गश्त व्यवस्था की जरूरत।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned