कानून को ठेंगा द‍िखाते  बजरी माफिया, कोठारी नदी में अब भी दौड़ रहे बजरी भरे वाहन

Illegal gravel mining in bhilwara पुलिस, प्रशासन व खनिज विभाग की प्रभावी कार्रवाई नहीं होने से जब शहर में ही बजरी खनन किया जा रहा है तो गांवों के हालात तो और भी ज्यादा बदतर है।

By: mahesh ojha

Published: 01 Jul 2019, 11:27 PM IST

भीलवाड़ा।

Illegal gravel mining in bhilwara शहर से सटकर निकल रही कोठारी नदी में अब भी बजरी भरे वाहन दौड़ रहे है। पुलिस, प्रशासन व खनिज विभाग की प्रभावी कार्रवाई नहीं होने से जब शहर में ही बजरी खनन किया जा रहा है तो गांवों के हालात तो और भी ज्यादा बदतर है। बजरी माफिया कानून को सरेआम ठेंगा दिखा रहे हैं। बजरी से भरे ट्रैक्टर शहर की सड़कों पर बेखौफ तेज गति से दौड़ते साफ देखे जा सकते हैं। इन बजरी भरे ट्रैक्टरों से कई बार हादसे हो चुके हंै। इसके बावजूद इन पर अंकुश नहीं लग पाया है।

 

खनिज विभाग के कर्मियों से धक्का-मुक्की के पांच आरोपी गिरफ्तार

हमीरगढ़ पुलिस ने बरड़ोद चौराहे के निकट बनास नदी में Illegal gravel mining in bhilwara अवैध बजरी दोहन के खिलाफ कार्रवाई को गए खनिज विभाग के कर्मचारियों से धक्का-मुक्की के आरोप में कीरो की झोपडि़या के लादूलाल कीर, नंदलाल कीर, कान्या खेड़ी के प्रकाश गुर्जर, राजेश गुर्जर, कासेड़ी (गंगरार) के रामलाल गुर्जर को गिरफ्तार किया। जेसीबी, डम्पर और दो कार जब्त की।

थानाप्रभारी तुलसीराम ने बताया कि 21 मई को खनिज विभाग के फोरमेन दिनेश बोहरा को खेड़ा बरड़ोद नाके पर बनास में बजरी के अवैध दोहन Illegal gravel mining in bhilwara की खबर मिली। टीम ने दबिश देकर ४० टन बजरी भरा डम्पर व एक्वोटर मशीन जब्त की। इस दौरान कार व जीप में आए 15-20 जनों ने टीम से धक्का-मुक्की की जब्त वाहन भगा ले गए। थाने में मामला दर्ज कराया।

 

 

 

mahesh ojha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned