20 दिन में 45 पार 1052 लोगों को ही लगी दूसरी डोज

84 दिन की बाध्यता
टीकाकरण की सुस्त रफ्तार की एक वजह

By: Suresh Jain

Published: 09 Jun 2021, 11:37 AM IST

भीलवाड़ा।
45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों के कोरोना टीकाकरण में बड़ी अड़चन है 84 दिन की मियाद। सेकंड डोज ८४ दिन बाद लगाने के नियम ने टीकाकरण की रफ्तार सुस्त कर दी। जिला मुख्यालय के सेंटरों से २० दिन के आंकड़े लिए तो चौंकाने वाली बात सामने आई। १५ मई से ५ जून तक २० दिन में 45 वर्ष से अधिक की आयु वर्ग के १०५० लोगों को ही दूसरा टीका लग पाया। इसके चलते इन २० दिनों में सेंटरों पर कई डोज बर्बाद हुए। आरसीएचओ डॉ. संजीव शर्मा ने बताया कि 45 वर्ष से अधिक आयु के पहले और दूसरे डोज में एक ही वाइल उपयोग की गई, जिसके चलते ज्यादा डोज बर्बाद नहीं हुए।
उपलब्ध से ज्यादा लोगों के लगाए टीके
45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को 84 दिन बाद टीका लगाने की गाइड लाइन केंद्र से जारी की गई है। इसकी पालना के तहत टीकाकरण हो रहा है। जिले में उपलब्ध डोज के मुकाबले उससे ज्यादा लोगों के टीके लगाए गए। 10 डोज की वाइल में 11 टीके आराम से लग सकते है। इसी प्रणाली के चलते उपलब्ध डोज के मुकाबले ज्यादा लोगों के टीके लगाए जा सके। डॉ. शर्मा का कहना है कि ४५ प्लस के लोगों को ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण करवाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हंै। उपखण्ड अधिकारियों के साथ चर्चा कर लोगों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned