scriptIn Bhilwara, why was there a difference between two departments on the | भीलवाड़ा मे जोनल प्लान पर दो विभागों में क्यूं ठनी, पढि़ए.... | Patrika News

भीलवाड़ा मे जोनल प्लान पर दो विभागों में क्यूं ठनी, पढि़ए....

In Bhilwara, why was there a difference between two departments on the zonal plan, read….भीलवाड़ा शहर के मास्टर प्लान-2035 के अनुरूप जोनल सेक्टर प्लान को लेकर नगर विकास न्यास व नगर परिषद के बीच खिंचमतान बढ़ गई है। मुख्यमंत्री को शिकायत के बाद नगर विकास न्यास ने दस्तावेज साइड पर खसरा प्लान अपलोड किया है, वहीं जिला कलक्टर एवं न्यास प्रशासक शिव प्रसाद नकाते ने जोनल प्लान के नक्शे पर आपत्तियों की अंतिम तिथि २१ नवम्बर तक बढ़ा दी है।

भीलवाड़ा

Published: November 19, 2021 01:27:30 pm

भीलवाड़ा। भीलवाड़ा शहर के मास्टर प्लान-2035 के अनुरूप जोनल सेक्टर प्लान को लेकर नगर विकास न्यास व नगर परिषद के बीच खिंचमतान बढ़ गई है। मुख्यमंत्री को शिकायत के बाद नगर विकास न्यास ने दस्तावेज साइड पर खसरा प्लान अपलोड किया है, वहीं जिला कलक्टर एवं न्यास प्रशासक शिव प्रसाद नकाते ने जोनल प्लान के नक्शे पर आपत्तियों की अंतिम तिथि २१ नवम्बर तक बढ़ा दी है। In Bhilwara, why was there a difference between two departments on the zonal plan, read….
In Bhilwara, why was there a difference between two departments on the zonal plan, read….
In Bhilwara, why was there a difference between two departments on the zonal plan, read….
सुप्रीम कोर्ट के आदेश की पालना में राज्य सरकार प्रदेश में नगरीय आबादी क्षेत्रों के जोनल सेक्टर प्लान बनवा रही है। इसी के तहत नगर विकास न्यास ने भीलवाड़ा शहरी क्षेत्र को पांच जोनल में विभक्त किया है और जोनल ए,सी व डी के नक्शे जारी कर १९ नवम्बर तक आपत्तियां मांगी है। इसी प्रकार जोनल बी व ई के नक्शे पर न्यास की अनुबंधित एजेंसी अपनी कार्यवाही कर रही है।
सीएम को शिकायत पर जागी यूआईटी
नगर परिषद ने जोनल ए,सी व डी सेक्टर के नक्शे आपत्तियों के लिए जारी होने के बावजूद शहरी नक्शा, प्रोपर्टी लेबल, कुल क्षेत्र, खसरा प्लान समेत विभिन्न जानकारी उपलब्ध नहीं कराने पर नाराजगी जाहिर की है। इस संदर्भ में सभापति राकेश पाठक ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के 15 नवम्बर को भीलवाड़ा प्रवास के दौरान उनसे मिल कर अपनी शिकायत दर्ज कराई और बताया कि जोनल सेक्टर प्लान शहर के मास्टर प्लान के अनुरूप नहीं है और इसमें कई खामियां है। मुख्यत: सड़कों का डिर्माकेशन नहीं होना, स्थलों का प्रारूप चिंहिकरण नहीं होना व पत्थरगढ़ नहीं होना मुख्यत: है। गहलोत ने इस संदर्भ में बाद में हैलीपैड पर ही कलक्टर नकाते से भी चर्चा की।
पंचायतों को भी नहीं कराया उपलब्ध

सभापति पाठक ने बताया कि राज्य सरकार की गाइड लाइन के अनुसार न्यास को जोनल सेक्टर के प्रस्तावित नक्शे व दस्तावेज केे बारे में नगर परिषद व न्यास की पेराफेरी में आने वाली ग्राम पंचायतों को उपलब्ध कराने चाहिए थे, लेकिन न्यास ने गंभीरता नहीं दिखाई, मुख्यमंत्री को इस संदर्भ में शिकायत की है। इसके बाद न्यास ने बुधवार को खसरा प्लान भी विभागीय साइड पर अपलोड किया है।
21 तक करा सकेंगे आपत्ति दर्ज

सभापति पाठक, आयुक्त दुर्गा कुमारी व न्यास सचिव अजय आर्य से जोनल सेक्टर प्लान को लेकर बुधवार को बैठक की। इस दौरान प्रारूप के बारे में चर्चा हुई। सभापति की तरफ से जो शिकायतें सामने आई, उस बारे में न्यास सचिव को अवगत कराया। न्यास के तीन जोन सेक्टर प्लान पर अब आपत्तियां २१ नवम्बर तक दर्ज कराई जा सकती है।
- शिव प्रसाद नकाते, जिला कलक्टर एवं न्यास प्रशासक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Covid-19 Update: भारत में कोरोना के 3.37 लाख नए मामले, मौत के आंकड़ों ने तोड़े सारे रिकॉर्डSubhash Chandra Bose Jayanti 2022: आज इंडिया गेट पर सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का PM Modi करेंगे लोकार्पणदिल्ली में जनवरी में बारिश का पिछले 32 साल का रिकॉर्ड ध्वस्त, ठंड से छूटी कंपकंपी, एयर क्वालिटी में सुधारUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारU19 World Cup: कौन है 19 साल का लड़का Raj Bawa? जिसने शिखर धवन को पछाड़ रचा इतिहासUP TET Exam 2021 : बारिश पर भारी अभ्यर्थियोंं का उत्साह, कड़ी सुरक्षा में शुरू हुई TET परीक्षाAjmer Urs : 1 फरवरी को उतरेगा संदल, 2 को खुलेगा जन्नती दरवाजाUP Top News: उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा विभाग शिक्षक पात्रता परीक्षा आज, दो पालियों में परीक्षा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.