3964 की जांच में मिले 23 संक्रमित व 8 की रिपोर्ट संदिग्ध

एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट चाहे पॉजिटिव आए या नेगेटिव, करानी पड़ रही आरटीपीसीआर जांच

By: Suresh Jain

Published: 09 Jun 2021, 08:43 PM IST

भीलवाड़ा .
एंजीटन रेपिड टेस्ट शुरू होने के बाद भी चिकित्सा विभाग को कोई राहत नहीं मिल पा रही है। हालांकि इस रिपोर्ट के परिणाम हाथो-हाथ मिलने के बाद संक्रमित पाए गए लोगों की पुन: आरटीपीसीआर जांच करवानी पड़ रही है। मजेदार बात है कि नेगेटिव आने के बाद भी इनकी आरटीपीसीआर जांच कर रहे है। हालांकि नेगेटिव रिपोर्ट के बाद उसे दवा का किट देते हैं ताकि अन्य को संक्रमित नहीं कर सके। एंटीजन टेस्ट से आमजन को राहत मिली। विभाग के साथ रोगियों का समय बच रहा। 20 मिनट में रिपोर्ट मिल रही है। इससे जांच और पॉजिटिव आने के बाद इलाज भी तुरंत शुरू कर दिया जा रहा है।

डिप्टी सीएमएचओ डॉ. घनश्याम चावला ने बताया कि अब तक जिले में ३९६४ सैम्पल का एंजीटन टेस्ट किया। इनमें २३ पॉजिटिव और ३९३३ नेगेटिव मिले जबकि ६ जनों की रिपोर्ट संदिग्ध मिली। इन सबके पुन: आरटीपीसीआर सैम्पल लिए व पोर्टल पर भी अपलोड हो रहे हैं। इससे व्यक्ति रिपोर्ट ऑनलाइन भी ले सकता है।
डॉ. चावला ने बताया कि राज्य सरकार से करीब १५ हजार एंटीजन टेस्ट किट मिले है। सरकार के निर्देश के बाद जिले में जहां भी आईएलआई मरीज है, उनकी इस किट से जांच कर रहे है। इससे मौके पर ही पता लग जाता है कि व्यक्ति संक्रमित है या नहीं। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर आरटीपीसीआर भी कर रहे है ताकि कोरोना की जांच रिपोर्ट मिल सके। नेगेटिव आने वाले कुछ लोगों की रैंडम जांच के लिए भी आरटीपीसीआर कर रहे हैं। डॉ. चावला का कहना है कि एंटीजन टेस्ट निशुल्क है। इससे सर्दी, जुकाम व खांसी वाले मरीज को तुरन्त जांच करवानी चाहिए।

----------------

दिनांक जांच पॉजिटिव नेगेटिव संदिग्ध
२० मई २२५ १ २२४ ०

२१ मई २६९ २ २६७ ०
२२ मई २२६ १ २२५ ०

२३ मई ७८ १ ७७ ०
२४ मई ७७ २ ७५ ०

२५ मई २६५ २ २६३ ०
२६ मई ५५४ ४ ५४४ ६

२७ मई ४९३ २ ४९० १
२८ मई ६४९ ५ ६४३ १

२९ मई २३९ ० २३९ ०
३० मई ९४ १ ९३ ०

३१ मई २३४ २ २३२ ०
०१ जून २९१ ० २९१ ०

०२ जून २७० ० २७० ०
योग ३,९६४ २३ ३,९३३ ८

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned