अर्थव्यवस्था का आधार स्वदेशी

स्वदेशी जागरण मंच चित्तौड़ प्रांत का प्रांत सम्मेलन

भीलवाड़ा।
Swadeshi Jagran Manch देश की अर्थव्यवस्था को सफल करने का एक मात्र माध्यम स्वदेशी है। आर्थिक मुद्दों पर संघर्ष करते हुए आरसेप समझौते के खिलाफ वातावरण बनाने का परिणाम है कि सरकार ने इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया है। यह बात स्वदेशी जागरण मंच के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख दीपक शर्मा प्रदीप ने रविवार को चित्तौड़ प्रान्त की ओर से आदर्श विद्या मंदिर में हुए सम्मेलन में कही।

Swadeshi Jagran Manch अखिल भारतीय विचार विभाग सह प्रमुख डॉ. राजकुमार चतुर्वेदी ने कहा कि परिवार की रचना भारतीय अर्थव्यवस्था की धुरी है। प्रत्येक परिवार में स्वदेशी भाव रहेगा तो देश जल्द आर्थिक रूप से विश्व का सिरमोर बनेगा। राजस्थान क्षेत्र के संयोजक डॉ. धर्मेंद्र दुबे ने दत्तोपंत ठेंगड़ी के जन्म शताब्दी वर्ष समारोह के बार में बताया। चार सत्र में हुए सम्मेलन में विभिन्न आर्थिक विषयों पर चर्चा हुई। समापन सत्र की अध्यक्षता भारतीय मजदूर संघ के प्रभास चौधरी ने की। संचालन महेश नेहवाल, लालूराम कुमावत, रोशनलाल पितलिया ने किया। नीरज ठाकुर, नवरत्न सिंघलिया, राजेंद्रसिंह गहलोत, दिलीपकुमार मीणा, आरके जैन, अजयकुमार दरड़ा, दिलीप खोकर व डॉ. सतीशकुमार आचार्य उपस्थित थे।

Suresh Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned