भीलवाड़ा में ATM को नहीं कर रहे सेनेटाइज, छूने से हो सकता है संक्रमण

-किसी भी एटीएम में नहीं है सेनेटाइजर की व्यवस्था

भीलवाड़ा । पूरा देश कोरोना वायरस को लेकर संवेदनशील हैए लेकिन भीलवाड़ा के बैंकों की कार्यप्रणाली नहीं बदली है। एटीएम संक्रमण बढ़ाने का अहम कारक हो सकते हैं लेकिन एटीएम को सेनेटाइज करने की फिलहाल बैंकों की कोई व्यवस्था नहीं है। राजस्थान पत्रिका ने बुधवार को शहर के एटीएम की वास्तविकता को चेक किया तो हालात कुछ ऐसे ही मिले। कहीं पर सेनेटाइजर नहीं मिला तो कई जगह पर बिना सुरक्षा इंतजाम एटीएम संचालित हो रहे थे।

सेनेटाइज करना आवश्यक
स्थान: सिटी मॉल के पास, समय दोपहर दो बजे
सिटी मॉल के पास स्थित एक एटीएम पर सुरक्षा गार्ड तो थाए लेकिन सेनेटाइजर के लिए कोई व्यवस्था नहीं थी। गार्ड ने बताया कि बैंक की तरफ या सुरक्षा एजेन्सी की ओर से सेनेटाइजर की व्यवस्था नहीं की गई है। हालांकि एटीएम पर लोगों का आने का क्रम बहुत कम है।
.......
एटीएम के लिए नहीं है सेनेटाइजर
स्थान: सूचना केंन्द्र चौराहा
समय दो बजे
सूचना केन्द्र चौराहा स्थित एटीएम पर सुरक्षा गार्ड तो तैनात था। एटीएम में भी कोई भी जाकर पैसे निकाल रहा थाए लेकिन उसे सेनेटाइज करने की कोई व्यवस्था नहीं थी। गार्ड से पूछा तो उसने बताया कि सेनेटाइजर की कोई व्यवस्था नहीं है। एटीएम को भी साफ करने की कोई व्यवस्था नहीं है।

पब्लिक की सुरक्षा पर ध्यान नहीं, नागौरी गार्डन
समय 2.10 बजे सूचना केन्द्र के बाद नागौरी गार्डन स्थित एक बैंक के एटीएम पर पहुंचे। बैंक के बाहर खड़े गार्ड से पड़ताल की तो उसने बताया कित बैंक में जाने से पहले हाथ धोकर जाए। अन्दर जाने पर हाथों को सेनेटाइज करवाया। बाहर ही लगे एटीएम में गार्ड मौजूद नहीं था। सेनेटाइजर भी दिखाई नहीं दिया। गार्ड ने बताया कि प्रत्येक विजिटर को सेनेटाइज करने के बाद ही बैंक में तो जाने दिए जा रहा हैए लेकिन एटीएम में जाने के दौरान ध्यान नहीं रह पाता है।
........
यहां तो खुलेआम संक्रमण को दावत
अजमेर रोड पेट्रोल पम्प के सामने स्थित एटीएम हैं। एटीएम में किसी प्रकार की संक्रमण से बचाव की कोई व्यवस्था नजर नहीं आई। यहां तक कि बताने के लिए गार्ड भी मौजूद नहीं था। एटीएम में कैश के लिए चारण्पांच लोग एटीएम में घुसे थे। ऐसे में संक्रमण पर रोक लगाने की सरकार की मंशा को आघात लग सकता है।
.......
संक्रमण फैला सकता है एटीएम से?
- एटीएम में कैश निकालने के लिए रोजाना कई लोग आते हैं।
- यह सभी प्रॉसेस के लिए एटीएम के कीण्पैड को हाथ लगाते हैं।
- ऐसे में कोरोना वायरस का संक्रमण इस कीण्पैड की वजह से अचानक फैल सकता हैं। इसलिए बैंकों को शहर के तमाम एटीएम पर सेनेटाइजर की व्यवस्था करना चाहिए। जिससे एटीएम का उपयोग करने वालों के हाथ को पहले ही सेनेटाइज किया जा सके। यह भी बता दें कि शहर व जिले में सभी बैंकों के 180 से अधिक एटीएम हैं।

नहीं मिली शिकायत
ऐसी कोई शिकायत नहीं आई है कि एटीएम पर सेनेटाइजर उपलब्ध नहीं है। अगर कोई मांग करता है तो एटीएम पर ऐसी व्यवस्था के लिए बैंकों को लिखा जाएगा।
आरके चौहानए जिला अग्रणी बैंक प्रबन्धक

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned