scriptInvestment took wings, 6300 crores caught pace | जिले में निवेश को लगे पंख, 6300 करोड़ की योजनाओं ने पकड़ी रफ्तार | Patrika News

जिले में निवेश को लगे पंख, 6300 करोड़ की योजनाओं ने पकड़ी रफ्तार

औद्योगिक योजनाओं को दो भागों में बांटा

भीलवाड़ा

Updated: April 06, 2022 10:44:42 pm

जयप्रकाश सिंह. भीलवाड़ा
पिछले साल जिला स्तरीय समिट में हुए निवेश करारों को पंख लगने लगे हैं। भीलवाड़ा में टेक्सटाइल और अन्य क्षेत्रों में करीब 65 सौ करोड़ रुपए की योजनाओं को गति मिलने लगी है। इनमें कई योजनाओं पर कार्य शुरू हो गया। इन योजनाओं के मूर्त रूप मिलने के बाद भीलवाड़ा टेक्नीकल टेक्सटाइल और रेडिमेड गारमेंट के क्षेत्र में भी झण्डे गाड़ेगा। अभी भीलवाड़ा दोनों क्षेत्रों में काफी पिछड़ा है। समिट में करीब आधा दर्जन कंपनियों ने भीलवाड़ा में टेक्नीकल टेक्सटाइल और रेडिमेड गारमेंट की इकाई लगाने के लिए जिला प्रशासन से एमओयू किया था।

पिछले दिसम्बर में हुए जिला स्तरीय समिट में करीब 7 हजार करोड़ के निवेश के एमओयू हुए। 4 हजार करोड़ से ज्यादा निवेश के लिए उद्यमियों ने रूचि दिखाई थी। इसके लिए एलओआई दिए। इन प्रस्तावों को जल्द मूर्त रूप दिया जा सके, इसलिए राज्य सरकार ने अब इसे दो भागों में बांटा दिया है। पचास करोड़ तक की लागत के प्रोजेक्ट अब जिला उद्योग केन्द्र देखेगा। पचास करोड़ से अधिक के प्रोजेक्ट के क्रियान्यवन की जिम्मेदारी ब्यूरो ऑफ इंवेस्टमेंट प्रमोशन को सौंपी है।

14 विभाग एक ही छत के नीचे
राज्य में दस करोड़ से अधिक के निवेश प्रस्तावों को अधिक प्रभावी ढंग से लागू करने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने वन स्टॉप स्कीम प्रारम्भ की गई है। निवेशकों को विभिन्न विभागों से सम्बंधित कई तरह की क्लीयरेंस एक स्थान पर मिल सकें, इसलिए 14 विभागों के अधिकारी एक ही जगह बैठकर निवेश प्रस्तावों को मंजूरी देंगे। वन स्टॉप शॉप स्कीम बीआईपी के तहत कार्य करेगी।
16 इकाइयों में उत्पादन शुरू
जिले में 50 करोड़ तक के निवेश वाले 103 औद्योगिक इकाइयां है। इनमें कुल 194.2 करोड़ का निवेश होना है। इससे 6542 जनों को रोजगार मिलेगा। इनमें 16 इकाइयों में उत्पादन शुरू हो गया। इनमें कुल 183.3 करोड़ का निवेश किया है। 900 से ज्यादा लोगों को रोजगार मिला है। 44 उद्योगों के लिए प्रक्रिया चल रही है। इनमें 520 करोड़ का निवेश होना है, इनमें 2685 जनों को रोजगार मिलेगा।

23 इकाइयों में 50 करोड़ से अधिक का निवेश
जिले में 23 इकाइयां ऐसी है, जिनमें 50 करोड़ से ज्यादा का निवेश है। इनमें कुल 4721 करोड़ का निवेश किया जा रहा है। इनमें कंचन, संगम, नितिन स्पीनिर्स, सुदिवा, सुपरगोल्ड, भीलवाड़ा डेयरी शामिल है, जिनमें निर्माण कार्य शुरू हो चुका है।

स्वयं सहायता समूह से जोड़ने की कवायद
जिले में रेडिमेड गारमेंट्स की इकाई की इच्छुक कंपनियों को स्वंय सहायता समूह से जुडऩे का सुझाव दिया है। जिला प्रशासन के अनुसार भीलवाड़ा में दस हजार से ज्यादा स्वयं सहायता समूह है, जिनसे हजारों महिलाएं जुड़ी हुई है। इन महिलाओं को रेडिमेड कपड़े तैयार करने का प्रशिक्षण देकर स्किल लेबर तैयार किया जा सकता है।

फूड एग्रो प्रोसेसिंग में 300 करोड़ का निवेश
भीलवाड़ा जिला खाद्य उत्पादन में भी अपना विशेष स्थान रखता है। मक्का, चना, मूंगफ ली, कपास, दालें, टमाटर, संतरा आदि के उत्पादन में जिला अग्रणी है। इन्हें देखते कई उद्यमियों ने 8 एग्रो प्रोसेसिंग क्षेत्र में 300 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव दिया है।
Investment took wings, 6300 crores caught pace
Investment took wings, 6300 crores caught pace
होटल एवं रिसोर्ट में भी 300 करोड़ का निवेश
भीलवाड़ा जिला चारों तरफ फोरलेन व सिक्सलेन से जुडा है। जिले में आसीन्द का सवाई भोज, शाहपुरा का रामद्वारा, धनोप माता, जोगणियां माता, कोटड़ी श्याम, सिंगोली चारभुजा के साथ अब जहाजपुर के स्वति धाम बिजौलियां के पार्श्वनाथ मंदिर, काछोला के चंवलेश्वर आदि नए धार्मिक पयर्टक स्थल विकसित हुए हैंं। यहां धार्मिक पर्यटन की संभावनाओं को देखते हुए 6 उद्यमियों ने 300 करोड़ की लागत से नए होटल व रिसोर्ट बनाने के प्रस्ताव दिए है।

खनिज के क्षेत्र में 700 करोड़ रुपए
जिले में बजरी, क्वाटर्स, फेल्सपार, सेण्ड स्टोन, ग्रेनाइट समेत 50 से अधिक तरह के मिनरल का उत्पादन होता है। भीलवाडा जिला प्रदेश की कुल रॉयल्टी का 25 प्रतिशत से अधिक का अंशदान करता है। मिनरल उत्पादों में वेल्यू एडिशन के लिए 10 उद्यमियों ने 700 करोड़ रुपए के प्रस्ताव दिए है।
---
16 इकाईयों में उत्पादन शुरू
भीलवाड़ा में हुए इन्वेस्ट समिट पर हुए एमओयू पर सरकार स्वयं नजर रख रही है। 50 करोड़ के नीचे के 16 इकाईयों में उत्पादन शुरू हो गया है। जबकि 50 करोड़ से अधिक के निवेश वाले एमओयू में 6-7 इकाईयों का काम चल रहा है। समिट को लेकर हर सप्ताह जिला कलक्टर इसकी रिव्यू मिटिंग ले रहे है। किसी भी तरह की परेशानी होने पर उद्यमियों से भी चर्चा की जा रही है।
राहुलदेवसिंह, महाप्रबन्धक जिला उद्योग केन्द्र भीलवाड़ा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाबPM Modi in Germany for G7 Summit LIVE Updates: 'गरीब देश पर्यावरण को अधिक नुकसान पहुंचाते हैं, ये गलत धारणा है' : G-7 शिखर सम्मेलन में बोले पीएम मोदीयूक्रेन में भीड़भाड़ वाले शॉपिंग सेंटर पर रूस ने दागी मिसाइल, 2 की मौत, 20 घायल"BJP से डर रही", तीस्ता की गिरफ़्तारी पर पिनाराई विजयन ने कांग्रेस की चुप्पी पर साधा निशानाअंबानी परिवार की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शिवसैनिकों से बोले आदित्य ठाकरे- हम दिल्ली में भी सत्ता में आएंगे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.