कुलदीप ने पहले दागी गोली, बच नहीं जाए इसलिए साथी ने गला रेता

काछोला पुलिस ने रक्षाबंधन के दिन धामनिया में खाखला व्यापारी देबीसिंह की हत्या मामले में गिरफ्तार मुख्य आरोपी कुलदीपसिंह उर्फ शूटर और उसके दो साथियों को मंगलवार को बापर्दा माण्डलगढ़ अदालत में पेश किया। जहां से तीनों को पांच दिन के रिमाण्ड पर भेज दिया।

By: Akash Mathur

Published: 07 Sep 2021, 10:24 PM IST

भीलवाड़ा. काछोला पुलिस ने रक्षाबंधन के दिन धामनिया में खाखला व्यापारी देबीसिंह की हत्या मामले में गिरफ्तार मुख्य आरोपी कुलदीपसिंह उर्फ शूटर और उसके दो साथियों को मंगलवार को बापर्दा माण्डलगढ़ अदालत में पेश किया। जहां से तीनों को पांच दिन के रिमाण्ड पर भेज दिया। आरोपियों से वारदात के इस्तेमाल देसी कट्टा और चाकू बरामद करना है। जिस मोटरसाइकिल पर वारदात करने गए, वह भी जब्त करनी है।

थानाप्रभारी कुलदीप गुर्जर ने बताया कि गत २२ अगस्त को बाइक पर आए आरोपियों ने धामनिया के देबीसिंह की गला रेतकर हत्या कर दी थी। हत्यारों ने तीन गोलियां भी चलाई थी। पुलिस ने मुख्य आरोपी भीलवाड़ा लेबर कॉलोनी निवासी कुलदीपसिंह और साथी आजादनगर निवासी तेजेन्द्र सिंह उर्फ रानू भदौरिया तथा मजिस्टे्रट कॉलोनी के पीछे निवासी राजेन्द्र उर्फ राजेश को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में कुलदीप ने बताया कि वो और तेजेन्द्र मकान में घुसे थे जबकि राजेन्द्र को बाहर निगरानी को छोड़ा। अंदर घुसे तो देबीसिंह पलंग पर सो रहा था। कुलदीप ने देसी कट्टे से तीन फायर कर देबीसिंह पर गोली दागी। उसके बाद भी बच नहीं जाए इसलिए तेजेन्द्र ने चाकू से गला रेत दिया। तीनों बाइक से फरार हो गए।

मंगरोप के निकट काटी दो दिन फरारी
वारदात के ठीक बाद तीनों भीलवाड़ा गए। कुलदीप के घर से कपड़े व अन्य जरूरत का सामान लेकर मंगरोप गए। वहां सुरक्षित ठिकाना तलाश कर दो दिन रहे। उसके बाद चित्तौडग़ढ़ पहुंच कर बस से इंदौर चले गए। दो दिन इंदौर ठहरने के बाद महाराष्ट्र पहुंच गए।

आइसक्रीम व्यवसायी के यहां शरण, कुल्फी बेचकर मजदूरी
आरोपी महाराष्ट्र के सोलापुर पहुंचे। वहां कुलदीप का आइसक्रीम व्यापारी परिचित था। उसके वहां पूर्व में कुलदीप काम कर चुका है। हत्या की बात व्यवसायी को नहीं बताई। वहां कुछ ठहरने के दौरान लॉरी पर कुल्फी बेचते रहे। २९ अगस्त से ४ सितम्बर तक यहीं रहे। इस बीच पुलिस को मुखबिर से पुख्ता सूचना मिली कि तीनों सोलापुर में है। एक टीम वहां भेजी। टीम ने दबिश दी तो कुलदीप व राजेन्द्र घर में मिल गए। तीसरा साथी तेजेन्द्र लॉरी पर कुल्फी बेचते पकड़ा गया। तीनों को पकड़ कर काछोला लाया गया।

Akash Mathur
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned