लैबोरेट्री के अगले माह लग जाएंगे ताले

लैबोरेट्री के अगले माह लग जाएंगे ताले
Locks will be installed next month of laboratory in bhilwara

Suresh Jain | Updated: 08 Aug 2019, 11:37:37 AM (IST) Bhilwara, Bhilwara, Rajasthan, India

कड़े नियम बन रहे रोड़ा, 5 दर्जन लैब को इस माह कराना होगा पंजीयन

भीलवाड़ा।
Para Medical Council राजस्थान एसोसिएशन ऑफ एलाइड हेल्थ प्रोफेशनल्स टेक्नोलॉजिस्ट्स के बैनर तले पैथोलॉजी लैब के संचालक पंजीयन की अनिवार्यता और उसके कड़े नियम के विरोध में उतर आए हैं। भीलवाड़ा प्राइवेट मेडिकल लैबोरेट्री एवं एक्सरे टेक्नीशियन एसोसिएशन के महासचिव वेदपालसिंह शेखावत का कहना है कि सरकार के कड़े नियम से तीन दर्जन से अधिक लैब बंद हो जाएगी। कई युवा बेरोजगार हो जाएंगे।

https://www.patrika.com/ujjain-news/this-work-doing-this-hospital-machine-instead-of-x-ray-4719186/

मरीजों को टेस्ट के लिए चार से पांच गुणा दाम चुकाने पड़ेंगे। उनका तर्क है, लैब टेक्नीशियनों से हस्ताक्षर या रिपोर्ट अधिकृत करने के अधिकार छीनने की बजाय राज्य में सभी पैरामेडिकल कर्मियों का अनुभव के आधार पर पंजीकरण पैरामेडिकल काउंसिल में करा बेरोजगार होने से बचाया जाए। इसे लेकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन कलक्टर को दिया था। सचिव शब्बीर मोहम्मद उपाध्यक्ष गुणवन्त जाकल, जगदीश सेरिन, अरूण शुक्ला सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।

 

डॉक्टर के हस्ताक्षर जरूरी
सरकार ने प्रदेश की सभी लैब का पंजीयन अनिवार्य कर दिया गया है। अन्तिम तारीख ३१ अगस्त है। उसके बाद बिना पंजीयन की लैब पर पांच लाख रुपए तक जुर्माना लगाया जाएगा। पंजीयन की मुख्य शर्त में जांच रिपोर्ट पर पैथोलॉजिस्ट या एमबीबीएस चिकित्सक के हस्ताक्षर जरूरी होंगे। यानी सभी लैब संचालकों को डॉक्टर्स रखने होंगे। अधिकांश लैब रेफरल आधार पर चल रही है तो कुछ में दो से चार लैब टैक्नीशियन है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned