बजरी माफियाओं से दोस्ताना पड़ गया कई एसएचओ को भारी

जिले में बजरी माफियाओं से सांठगांठ के आरोपों को लेकर पुलिस अकसर गिरी रही है। कई थाना प्रभारी अभी तक हटाए जा चुके है, जबकि कई पुलिस कर्मी निलंबित हुए है। बजरी ट्रैक्टर छोडऩे की एवज में पुलिस कर्मी घूस लेते भी धरे गए है। प्रशासनिक संयुक्त टीम की कार्यशैली पर भी सवाल उठते रहे है। दूसरी तरफ पुलिस जाप्ते पर बजरी माफियाओं के हमले व बजरी माफियाओं के आपस में क्षेत्राधिकार को लेकर आगजनी की घटनाएं भी बढ़ी है।

By: Narendra Kumar Verma

Published: 17 Oct 2020, 01:10 PM IST

भीलवाड़ा । जिले में बजरी माफियाओं से सांठगांठ के आरोपों को लेकर पुलिस अकसर गिरी रही है। कई थाना प्रभारी अभी तक हटाए जा चुके है, जबकि कई पुलिस कर्मी निलंबित हुए है। बजरी ट्रैक्टर छोडऩे की एवज में पुलिस कर्मी घूस लेते भी धरे गए है। प्रशासनिक संयुक्त टीम की कार्यशैली पर भी सवाल उठते रहे है। दूसरी तरफ पुलिस जाप्ते पर बजरी माफियाओं के हमले व बजरी माफियाओं के आपस में क्षेत्राधिकार को लेकर आगजनी की घटनाएं भी बढ़ी है।

बजरी के खेले मेें अब तक यूं गिरी गाज
बजरी के मामले में पुर पुलिस थाने के चार पुलिसकर्मी को तत्कालीन एसपी डॉ.रामेश्वर सिंह ने निलंबित किया था। इसमें एएसआई कमलेशकुमार, सिपाही करणसिंह, उषाराम, बलवीरसिंह थे। इन पर बजरी से भरे ट्रेलर के चालक के साथ मारपीट व लेनदेन का विवाद था। सवाईपुर चौकी के तत्कालीन प्रभारी रामकिशोर बेड़ा को भी हटाया था। ये बिना जाब्ता लिए ही निजी वाहन लेकर अवैध बजरी का परिवहन रोक लिया था। माफि याओं ने इनको बंधक बनाया। बाद में इनको इनको यहां से हटा दिया। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने अरवड़ चौकी प्रभारी को 4500 रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था। प्रभारी ने यह रिश्वत बजरी से भरी ट्रेक्टर ट्रॉली छोडऩे की एवज में ली थी।

दौड़ रहे बजरी के ट्रैक्टर ट्रोली
जिले की कोठारी व बनास नदी में ज्यादा अवैध बजरी खनन हो रहा है। शहर में कोठारी व बनास नदी क्षेत्र में खुले आम बजरी का अवैध दोहन हो रहा है। कोतवाली, सुभाषनगर, प्रतापनगर, सुभाषनगर, पुर व सदर थाना क्षेत्र में बजरी से भरे ट्रैक्टरों की दौड़ आम है। जिले के बागोर, हमीरगढ़, मंगरोप, काछोला, जहाजपुर, बीगोद, शक्करगढ़, मांडलगढ़ आदि क्षेत्रों में भी अवैध बजरी खनन की शिकायतें है।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned