scriptMLA's son is taking government salary sitting at home at bhilwara | विधायक जी का बेटा घर बैठे ले रहा सरकारी पगार | Patrika News

विधायक जी का बेटा घर बैठे ले रहा सरकारी पगार

MLA's son is taking government salary sitting at home at bhilwara नेताओं की मेहरबानी एवं अफसरशाहों की चुप्पी से जिले के एक विधायक के पुत्र सालों से चिकित्सा विभाग की नौकरी घर बैठे कर रहे है। हल्ला मचता है तो फिर ऑफिस घूम फिर आते है। सरकारी रजिस्टर में हाजिरी लगे या नहीं लगे, लेकिन उन्हें पूरी सरकारी पगार मिल रही है।

भीलवाड़ा

Published: November 15, 2021 01:47:04 pm

भीलवाड़ा। नेताओं की मेहरबानी एवं अफसरशाहों की चुप्पी से जिले के एक विधायक के पुत्र सालों से चिकित्सा विभाग की नौकरी घर बैठे कर रहे है। हल्ला मचता है तो फिर ऑफिस घूम फिर आते है। सरकारी रजिस्टर में हाजिरी लगे या नहीं लगे, लेकिन उन्हें पूरी सरकारी पगार मिल रही है। प्रशासन गांव के संग अभियान में वह इन दिनों शिविर में नजर आ रहे है, लोग समझ ही नहीं पा रहे है कि वह सरकारी नुमाइंदे है या फिर विधायक जी के प्रतिनिधि । चर्चा है कि उनके ही एक करीबी ने प्रशासन गांवों के संग अभियान में विधायक जी के पुत्र के नाम का खुलासा चिकित्सा कर्मी के रूप में कर दिया तो विधायक जी का पूरा परिवार ही नाराज हो उठा। MLA's son is taking government salary sitting at home at bhilwara
MLA's son is taking government salary sitting at home at bhilwara
MLA's son is taking government salary sitting at home at bhilwara
लगता है पहले फिक्स था

प्रतियोगी पेपर लीक होने या मैच फिक्स होने का मामला हो तो बवाल मचना स्वाभाविक है। फिर कई चर्चाएं भी आम है, लेकिन एक माह से रिक्त पद पर कौन आईपीएस अधिकारी आएगा, संभवत: यह पहले से तय था, क्योंकि सरकार के आदेश आने से पहले ही आने वाले आइपीएस का नाम सोशल मीडिया से लेकर राजनीतिक गलियारे में खासी चर्चा में था। चर्चा है कि नए टाइगर का नाम तो पहले से ही तय था, क्योंकि पुराने टाइगर जिले के कई राजनीतिज्ञों के हर मंसूबे पूरे नही होने दे रहे थे।
घर बैठे आई गंगा
मंत्रिमण्डल विस्तार एवं राजनीतिक नियुक्तियों से पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भीलवाड़ा आना उम्मीद लगाए बैठे लोगों के लिए घर बैठे गंगा आने के समान है, हालांकि कुर्सी के लिए जोर आजमाइश काफी समय से चल रही है, लेकिन अब जब मुखिया ही घर पर आ रहे है तो फिर यह तय है कि हर कोई उनके सामने पूरा दमखम दिखाएगा। संभावित दावेदार मुखिया का दौरा तय होते ही अपना रूतबा और दावंपेच दिखाने के लिए जुट गए है।

नेताजी से उलझे अधिकारी

मुख्यमंत्री जन आवास योजनाओं की स्थिति हमारे शहर में ठीक नहीं है। यह ठीक इसलिए भी नहीं है कि शहर के विकास कार्यों का जिम्मा संभालने वाले जनप्रतिनिधि ही ठेकेदार बने हुए है। न्यास के ही आला अधिकारी हरणी खुर्द सीएम आवास योजना के निर्माण कार्य से खुश नहीं है। उन्होंने निरीक्षण के दौरान अपनी नाराजगी दिखाई तो ठेकेदार बने नेताजी ने भी गुस्सा दिखा दिया। इससे नोंकझोंक के हालात हो गए। चर्चा है कि न्यास राजनीतिक चक्रव्यूह में फंसी हुई है, अधिकारी चाहकर भी कुछ नहीं कर पा रहे है।

दस दिन में ही करवा ली वापसी

नगर परिषद में रस्साकशी एवं एक-दूसरे पर भारी पडऩे का खेल चल रहा है। जिसे मौका मिले, वह पटकनी देने की कोशिश कर रहा है। हाल ही में एक पक्ष का जोर चला तो उसने यहां के आला के ही पीए का टिकट अजमेर के लिए कटवा दिया। उसके बचाव में दूसरा पक्ष भी मजबूती से आ गया। महज दस दिन में फिर से भीलवाड़ा में वापसी हो गई, चर्चा है कि बड़े अफसरों की जी-हजूरी के फेर में यहां का प्रशासनिक ढांचा ही चरमाया हुआ है।
- नरेन्द्र वर्मा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

प्रियंका गांधी पर बरसी मायावती कहा, कांग्रेस वोट कटवा बीएसपी को ही वोट देंहेट स्पीच को लेकर हिन्दू संगठन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, कहा-मुस्लिम नेताओं की भी हो गिरफ्तारीCovid-19 Update: देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3.37 लाख नए मामले, ओमिक्रॉन केस 10 हजार पारSubhash Chandra Bose Jayanti 2022: आज इंडिया गेट पर सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का PM Modi करेंगे लोकार्पणनेताजी की जयंती अब पराक्रम दिवस के रूप में मनाई जाएगी, PM मोदी समेत इन नेताओं ने दी श्रद्धांजलिशोएब अख्तर बोले- 'विराट कोहली की जगह होता तो शादी नहीं करता, उन्हें कप्तानी छोड़ने के लिए किया गया मजबूर'राजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडमध्यप्रदेश के सिर्फ 11 जिलों में मिल रहा 'खरा' खोना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.