न भंडारा और न साथ में 5 से ज्यादा समर्थक

सरपंच चुनाव : उम्मीदवारों को माननी होगी कड़ी गाइडलाइन
सरपंच व वार्ड पंच के उम्मीदवारों को निययों की करनी होगी पालना

By: Suresh Jain

Updated: 16 Sep 2020, 11:20 AM IST

भीलवाड़ा।
सरपंच व वार्डपंच का चुनाव लडने जा रहे उम्मीदवार इस बार अपने समर्थकों के साथ भीड़ के रूप में प्रचार-प्रसार नहीं कर पाएंगे। उम्मीदवारों को गाइड लाइन की सख्ती से पालना करनी होगी। यदि उम्मीदवार पांच से अधिक व्यक्तियों के साथ चुनाव प्रचार करते नजर आए तो निर्वाचन अधिकारी की ओर से कार्रवाई की जाएगी।
राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से सरपंच व वार्डपंच चुनाव को लेकर गाइडलाइन जारी की है। जिसमें कोरोना संक्रमण न फैले इसका विशेष ध्यान रखते हुए प्रचार-प्रसार में भी सख्ती का उल्लेख किया है। यूं कहें कि इस बार प्रचार-प्रसार में भी उम्मीदवारों को पाबंदी में रहना होगा।
पांच से अधिक समर्थक नहीं होंगे साथ
उम्मीदवार घर-घर दस्तक देकर अपने पक्ष में वोट मांगने जाते समय पांच से अधिक समर्थक साथ नहीं रख पाएंगे। साथ ही केन्द्र व राज्य सरकार की ओर से कोविड.19 को लेकर जारी कर रखी गाइडलाइन का भी सख्ती से पालन करेंगे। जहां गाइडलाइन की अवहेलना नजर आती है वहां निर्वाचन अधिकारी की ओर से आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 तथा आईपीसी की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी।
नहीं चलेगा भंडारा
आम तौर पर सरपंच चुनाव में ये देखने को मिलता है कि उम्मीदवार की ओर से गांवों में जगह-जगह पर भंडारे का आयोजन कर मतदाताओं को रिझाने का प्रयास किया जाता है। इस बार ऐसा भी नहीं होगा। भीड़ किसी भी तरीके से न जुटे इसे लेकर सख्ती बरती जाएगी।
तो करेंगे कार्रवाई
चुनाव के दौरान कोई भी उम्मीदवार यदि पांच से अधिक व्यक्तियों को साथ लेकर प्रचार-प्रसार करने घर-घर पहुंचता है तो कार्रवाई की जाएगी। कोविड-19 को लेकर केन्द्र व राज्य सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर भी नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
राकेश कुमार, सहायक निर्वाचन अधिकारी

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned