अब लोग यह नहीं पूछते है...बोले मेरे मेजा कितना पानी

वस्त्रनगरी की जीवन रेखा कहे जाने वाले मेजा बांध को लोग चम्बल का पानी जिले में आने से भूलाने लगे है। दो साल पूर्व तक बारिश के दौरान सभी की नजरें मेजा बांध के जलस्तर पर लगी रहती थी और तेज बारिश होते ही सोशल मीडिया से लेकर चौराहा पर एक ही सवाल होता था, मेजा बांध में कितना पानी आया, अब मेजा के जलस्तर को लेकर सोशल मीडिया व चौराहे पर चर्चा शांत है। Now people don't ask ... how much water does my Meja bandh have

By: Narendra Kumar Verma

Published: 24 Aug 2020, 12:02 PM IST

भीलवाड़ा। वस्त्रनगरी की जीवन रेखा कहे जाने वाले मेजा बांध को लोग चम्बल का पानी जिले में आने से भूलाने लगे है। दो साल पूर्व तक बारिश के दौरान सभी की नजरें मेजा बांध के जलस्तर पर लगी रहती थी और तेज बारिश होते ही सोशल मीडिया से लेकर चौराहा पर एक ही सवाल होता था, मेजा बांध में कितना पानी आया, अब मेजा के जलस्तर को लेकर सोशल मीडिया व चौराहे पर चर्चा शांत है। Now people don't ask ... how much water does my Meja bandh have
अभी भी ४० लाख लीटर
इसके लोगों को यह जानना भी जरुरी है कि मेजा बांध अभी भी वस्त्रनगरी की प्यास बुझा रहा है। यहां से अभी रोजाना ४० लाख लीटर पानी की आपूर्ति पटरी पार क्षेत्र चन्द्रशेखर आजाद नगर, आजाद नगर, बापूनगर, रीको क्षेत्र में हो रही है हालांकि वर्ष २०१८ तक शहर को ८० से ९० लाख लीटर पानी मिल रहा था।

मेजा का पेटां क्षेत्र को पानी का इंतजार
जिले मेंं इस बार मानसून कमजोर होने से अभी तक कही भी दमदार बारिश नहीं हो सकी है। इसका असर मेजा के जलस्तर पर भी आया है। ३० फीट की क्षमता के बांध में अभी छह फीट पानी है, यह छह फीट पानी भी इस बारिश में नही आया है। मेजा बांध के पेटां क्षेत्र में हरियाली जरुर छाई हुई है, लेकिन पानी का दायरा केवल मध्य क्षेत्र में ही सिमटा हुआ है।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned