फोटो खिंचवाने पर ही मिलेगा नया नम्बर

- लाइव फोटो खींचने पर ही होगा सत्यापन

By: Suresh Jain

Published: 10 Mar 2019, 08:32 PM IST

भीलवाड़ा ।


अब आपको नई सिम लेने या फिर नम्बर को किसी अन्य टेलीकॉम कम्पनी में पोर्ट कराना है, तो केवल आधार नम्बर से काम नहीं चलेगा। सरकार ने इस पर रोक लगा दी है। हालांकि यह आदेश पहले से लागू था। इसे अब सख्ती के साथ लागू किया जा रहा है।

सरकार ने टेलीकॉम कम्पनियों को मौजूदा मोबाइल ग्राहक और नए कनेक्शन देने के लिए आधार ई-केवाईसी सत्यापन बंद करने के निर्देश दिए थे। इस निर्णय के बाद से लोगों ने चिंता भी जताई कि आधार कार्ड के बिना सत्यापन कैसे होगा और कहीं फर्जी सिम की संख्या में बढ़ोतरी नहीं होने लग जाए। टेलीकॉम कम्पनियों ने भी ग्राहकों को नया मोबाइल कनेक्शन देने के लिए वैकल्पिक डिजिटल केवाईसी प्रक्रिया शुरू कर दी है। यह प्रक्रिया आधार नंबर पर आधारित इलेक्ट्रानिक वेरिफिकेशन प्रक्रिया की जगह ले चुकी है। इससे ग्राहकों को भी परेशानी नहीं होती है।

पलकें झपका कर सत्यापन
पभोक्ता नई सिम लेने या नंबर पोर्ट कराने के लिए आता है, उस समय मोबाइल से ग्राहक का लाइव फोटो लिया जाएगा। फोटो के लिए ग्राहक को एक बार आंख बंद एवं खोलनी होती हैं या फिर कोई हरकत करनी होती है, ताकि सॉफ्टवेयर को पता चल सके की सामने संबंधित व्यक्ति ही बैठा है। इसके बाद सॉफ्टवेयर उस व्यक्ति का फोटो खींचता है। पहले की तरह खिंचा हुआ फोटो देने या खींचने के बजाय अब व्यक्ति को कार्यालय या दुकान पर जाकर केवाईसी करवानी होगी, तभी सत्यापन होगा।

उपभोक्ताओं को राहत
सरकार की इस योजना से उपभोक्ताओं को काफी राहत मिली है। अब पहले की तरह फोटो नहीं देनी पड़ती और कागजी झंझटों से मुक्ति मिली है। डिजिटल केवाईसी प्रक्रिया से उपभोक्ता भी सन्तुष्ट रहता है। इसके बाद ग्राहक की फोटो खींच कर और आइडी का डेटा लेकर सिम दी जाती है। अब फोटो, आइडी की फोटोकॉपी आदि करने से छुटकारा मिला है।
संजय जैन, कर्मचारी टेलीकॉम कम्पनी

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned