खुले में शौच गए छह लोगों को दिखाई हवालात

खुले में शौच नहीं करने के लिए जागरूक करने के बावजूद इसके लिए गंभीरता नहीं बरतने वालों के प्रति प्रशासन सख्त

By: tej narayan

Published: 18 Aug 2017, 07:46 PM IST

Bhilwara, Rajasthan, India

जहाजपुर।

स्वच्छ भारत अभियान के तहत लोगों को खुले में शौच नहीं करने के लिए जागरूक करने के बावजूद इसके लिए गंभीरता नहीं बरतने वालों के प्रति प्रशासन सख्त हो गया है। शुक्रवार सुबह पुलिस ने पीपलूंद व श्रृंगारचवरी गांव में खुले में शौच करते छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इन्हें थाने की बैरक में बंद कर दिया। गिरफ्तार छह लोगों को उपखण्ड अधिकारी के सामने पेश किया गया, जहां से 15 दिन में शौचालय बनाने को पाबन्द करने के बाद 10-10 हजार रुपए के जमानत मुचलके पर रिहा कर दिया गया।

 

READ: राजस्थान की सियासत का अगला मुखिया कौन होगा, यह पार्टी करेगी तय  

 

जहाजपुर में उपखण्ड अधिकारी करतार सिंह के खुले में शौच करने वालों को रोकने के निर्देश के बाद पुलिस ने पीपलूंद व श्रृंगारचवरी गांव में खुले में शौच करते छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इन्हें थाने की बैरक में बंद कर दिया। गिरफ्तार छह लोगों को उपखण्ड अधिकारी के सामने पेश किया गया, जहां से 15 दिन में शौचालय बनाने को पाबन्द करने के बाद 10-10 हजार रुपए के जमानत मुचलके पर रिहा कर दिया गया।

 

READ: दम्पति व चौकीदार से मारपीट, आभूषण व नकदी लूटे  

 

गांगीथला को रोकी बिजली

गांगीथला में स्वच्छ भारत मिशन के तहत 19 प्रतिशत शौचालय ही बने हैं। अधिकतर ग्रामवासी खुले में शौच करते है । उपखण्ड अधिकारी करतार सिंह ने बताया की ग्रामीणों को कई बार समझाया। शौचालय बनाने के लिए 15 दिन का अल्टीमेटम भी दिया गया। इसके बावजूद ग्रामीणों में शौचालय निर्माण में रूझान नहीं दिखाया। परिणाम स्वरूप अजमेर डिस्कॉम के सहायक अभियन्ता को गांगीथला को घरेलू बिजली से वंचित करने का आदेश दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned