1196 में से 825 हैल्थ वर्करों ने टीका लगवाकर प्रदेश में सातवें स्थान पर रहा भीलवाड़ा

12 केंद्रों पर टीकाकरण, एमजीएच में शतप्रतिशत लगे टीके

By: Suresh Jain

Published: 24 Jan 2021, 08:41 PM IST

भीलवाड़ा
जिले के 12 स्वास्थ्य केंद्रों पर टीकाकरण हुआ। 825 हैल्थ वर्करो ने टीके लगाए। इनमे निजी हॉस्पिटलो के हैल्थ वर्कर शामिल है। सबसे ज्यादा एमजीएच में 100 जनो को टीके लगे। टीकाकरण में रविवार को भीलवाड़ा का सातवें नंबर रहा। रविवार को 12 स्वास्थ्य संस्थानों 1196 हैल्थ वर्करो को टीका लगाने का लक्ष्य रखा था। इनमे से 825 हैल्थ वर्कर्स को टीका लगाया गया। वही 79 हैल्थ वर्करों को अलग से टीके लगाए गए है। प्रदेश में भीलवाड़ा सातवे स्थान पर रहकर 69 प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त किया। जबकि राजस्थान का 67.59 प्रतिशत रहा। उधर बागौर में एक आशा सहयोगिनी के वैक्सीनेशन के बाद तबीयत खराब होने पर उसे भीलवाड़ा के महात्मा गांधी अस्पताल में रेफर किया गया। महिला को आईसीयू में भर्ती किया गया है। रविवार को महिला की स्थिति सामान्य बताई गई।
आरसीएचओ डॉ. संजीव शर्मा ने बताया कि जिले में १२ स्थानों पर लगाए गए टीकाकरण अभियान के तहत एमजीएच प्रथम में १०० में से ५०, एमजीएच द्वितीय में १०२ में से १००, पंडेर में १०० में से ८०, आसीन्द १०० में से ६५, महुआ में ९३ में से ५५, करेड़ा में १०७ में से ५०, सांगरिया १०८ में से ९०, बनेड़ा में १०० में से ७३, फूलियाकलां में ४९ में से २०, सहाड़ा में ११० में से ६२, कोटड़ी में ११७ में से ७० तथा निजी चिकित्सालय राम स्नेही में ११० में से ११० के वैक्सीनेशन किया गया। जबकि आसीन्द में १३, सहाड़ा में ५, कोटड़ी में १६, राम स्नेही में ४५ यानी कुल ७९ अन्य हैल्थ वर्करों के टीके लगाए गए। रविवार को भी २५ डोज बैकार हो गई है।
बागौर में महिला की हालत बिगड़ी
बागौर में शनिवार को लगाए गए टीके के दौरान आशा सहयोगिनी के वैक्सीनेशन के बाद उल्टी की शिकायत होने पर भीलवाड़ा के महात्मा गांधी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। वैक्सीनेशन अभियान के एईएफआई कमेटी के सदस्य डॉ. ओपी छीपा ने बताया कि शनिवार को महिला की हालत बिगडऩे पर अस्पताल में भर्ती कराया था। लेकिन जांच में सामने आया कि उसे माइग्रेन की बीमारी होने से अक्सर उल्टी होती रहती है। शनिवार को भी वैक्सीन के दौरान सर दर्द होने से यह स्थिति हुई थी। महिला की तबीयत अब सही बताई जा रही है।
आज ३१ सेन्टरों पर लगेंगे टीके
आरसीएचओ डॉ. शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश पर अब जिले में सेन्टर बढ़ाकर ३१ किए जा रहे है। सरकार ने २९ तक हैल्थ वर्कर के वैक्सीनेशन का काम पूरा करने के निर्देश दिए है। इस प्रथम चरण के बाद दूसरे चरण में पुलिसकर्मी व फ्रन्ट लाइन वर्कर को टीके लगाए जाने है। सरकार के आदेश मिलने पर इनकी संख्या बढ़ाकर ३१ की गई है। इनमें शहरी क्षेत्र में आठ तथा ग्रामीण क्षेत्र में २३ स्थानों पर टीके लगेंगे। शहरी क्षेत्र में महात्मा गांधी अस्पताल प्रथम व द्वितीय, रामस्नेही चिकित्सालय एवं अनुसंधान केन्द्र, रामस्नेही नर्सिग स्कूल, कोशीपुरी, बापूनगर, शास्त्रीनगर, सुभाषनगर शामिल है। जबकि ग्रामीण क्षेत्र में शक्करगढ़, आसीन्द, शंभूगढ़, आमली, काछोला, भागवानपुरा, बच्छखेड़ा, रायला, झाडोल, कोटड़ी, सुवाणा, अमरवासी, लाडपुरा, सलावटिया, खामौर, निम्बाहेड़ा जाटान, सवाईपुर, रूपाहेली खुर्द, रोपा, हमीरगढ़ तथा पंडेर शामिल है।
----
बनेड़ा स्थित राजकीय चिकित्सालय के डॉक्टर सुरेश कुमार ने बताया कि 74 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया। वरिष्ठ लैब टेक्नीशियन ईश्वर सिंह तंवर ने बताया कि टीके के बाद किसी को किसी तरह के लक्षण नहीं पाए गए।
----
फूलियाकलां.शाहपुरा ब्लॉक की सीएचसी सांगरिया में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ रानू शर्मा के नेतृत्व में फ्रंट लाइन कोराना वॉरियर्स को कोराना का वैक्सीन लगाए गए। डिप्टी सीएमएचओ डॉ घनश्याम चावला ने टीकाकरण सत्र का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। पंजीकृत 111 में से 90 हैल्थ वर्करों को वैक्सीन लगाई गई। वैक्सीनेटर विजय लक्ष्मी, आशा तेली, नीलम मीणा ने टीका कारण किया। सुपरविजन कैलाश कोली ने किया।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned