ओवरलोड वाहन होंगे ब्लैक लिस्टेड

कार्रवाई के बाद खनिज का नहीं हो सकेगा लदान

By: Suresh Jain

Published: 03 Jan 2020, 08:39 PM IST

भीलवाड़ा।
Overload vehicles will be black listed यदि कोई वाहन निर्धारित भार क्षमता से अधिक खनिज का परिवहन करता है तो तुरंत कार्रवाई होगी। उसे ब्लैक लिस्टेड भी किया जा सकता है। इसके बाद प्रदेश में दोबारा खनिज लदान नहीं कर सकेगा। एेसा खान एवं भू विज्ञान विभाग (ई-रवन्ना) और परिवहन विभाग (ईटीपी) के सॉफ्टवेयर के एकीकृत होने से संभव हुआ है।

Overload vehicles will be black listed खान निदेशालय के अनुसार, परिवहन विभाग के सॉफ्टवेयर से एकीकरण के बाद वाहन रजिस्ट्रेशन और ई-रवन्ना, ईटीपी जेनरेशन में वाहन संबंधित विवरण जैसे खाली गाड़ी का वजन आदि सीधे परिवहन विभाग के सॉफ्टवेयर पर होगी। यदि क्षमता से अधिक खनिज है तो वह सीधे परिवहन विभाग की साइट पर सूचित होगा। ऐसा वाहन चाहे सड़क पर दौड़ रहा हो या खनिज उतार दिया हो, ब्लैक लिस्टेड की कार्रवाई होगी। एक जनवरी से वाहन की क्षमता से अधिक खनिज मिलने पर खान विभाग की वेबसाइट से परिवहन विभाग को स्वत: सूचना मिल जाएगी। इससे परिवहन विभाग वाहन मालिक पर कार्रवाई कर पाएगा।

यह करना होना
जिला परिवहन अधिकारी वीरेन्द्रसिंह राठौड़़ ने बताया कि वाहन मालिक या चालक परिवहन विभाग से वाहन का वास्तविक वजन का मिलान कर सही करा सकते हैं। भार क्षमता भी परिवहन विभाग में सही अंकित कराएं। खनिज परिवहन के ट्रेक्टर-ट्रॉलियों का व्यवसायिक पंजीकरण कराना होगा ताकि खाली वाहन को भरने से पहले तुलाई नहीं करनी पड़ेगी। ओवरलोड परिवहन के कारण वाहन दुर्घटनाओं व प्रदूषण में कमी आएगी। सड़कों की क्षति कम होगी। सड़कों के नवीनीकरण में व्यय में कमी आने से राजकीय धन की बचत होगी।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned