दुकान चलाने की मांग रहे अनुमति, लेकिन मिल नहीं रही

शराब की दुकानें खुलने के बाद दुकानार ने दुकाने शुरू करने की मांग

By: Suresh Jain

Updated: 05 May 2020, 11:09 PM IST

भीलवाड़ा
शहर में दुकाने बन्द होने से व्यापारी परेशान हैं। वे चाहते हैं कि अब इनको कुछ शर्तो के साथ दुकान खोलने की अनुमति दी जाए। ताकि लोगों को रोजगार मिल सके और दुकानदार भी अपनी दुकान को संभाल सके। पहले उम्मीद थी कि शराब की दुकानों से पहले अन्य दुकाने खुलेंगी, लेकिन हुआ इसका उलटा। अब उन्होंने बंद पड़ी दुकाने को फिर से खोलने की मांग उन्होंने की है। इसके लिए ऑनलाइन भी आवेदन कर रखा है, लेकिन उन्हें अनुमति तक नहीं मिल रही है।
कृषि उपकरण उद्यमी किशनलाल बताते हैं कि शराब की दुकानें खुलने की छूट मिलने के बाद उन्हें सभी तरह के उद्योग व दुकाने भी शुरू होने की आस है। जो उद्योग चल रहे हैं उन्हें भी मांग के अनुरूप कच्चा माल नहीं मिल पा रहा है। अब सभी तरह की दुकाने खोलने के आदेश भी जारी करने चाहिए। यदि ऐसा नहीं हुआ तो व्यापारियों को बड़ा नुकसान होगा। खास बात यह है कि दुकाने २० मार्च से बन्द है। मकान मालिक उनसे किराए का तकाजा करने लगे है। ऐसे में घर खर्च चलाए या दुकान का किराया देवे। हालात तो यह हो गई है कि घर खर्च चलाना भी मुश्किल हो गया है।


स्वदेशी को बढ़ावा देने के लिए बना रहे धुलने वाले मास्क
भीलवाड़ा . कोरोना संक्रमण से बचाने, स्वदेशी के प्रति जागरूक करने व फिजूलखर्ची रोकने के लिए शहर में धुल सकने वाले मास्क बनाए जा रहे हैं। ऐसा प्रयास शहर की कई महिलाएं व सामाजिक संगनठन करके मास्क बना रहे है। यह सिलसिला पिछले कई दिनों से नियमित रूप से जारी है। अब तक सैकड़ों की संख्या में मास्क बनाकर कोरोना योद्धाओं व जरूरतमंदों को बांटे जा चुके हैं। काशीपुरी, आरके कॉलोनी, बसन्त बिहार, विजयसिंहपथिक नगर सहित अन्य क्षेत्र में महिलाएं मास्क नाकर नगर परिषद के सफाई कर्मचारियों, पुलिस कर्मियो को धुल सकने वाले मास्क बांटे गए हैं।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned