सहाड़ा में सियासी बवाल, पितलिया ने फोड़े आरोपों के बम

Political turmoil in Sahada, Pitlia blasts bomb allegations सहाड़ा उप चुनाव में भाजपा के बागी प्रत्याशी लादूलाल पितलिया के शुक्रवार दोपहर नाटकीय तरीके से गंगापुर उपखंड कार्यालय पहुंच कर अपना निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में भरा नामांकन पत्र वापस उठाने के बाद सियासी भूचाल आ गया। देर रात पितलिया ने वीडियो जारी कर बताया कि वह दबाव में थे, लेकिन वह सहाड़ा क्षेत्र के लोगों की सेवा करते रहेंगे

By: Narendra Kumar Verma

Published: 03 Apr 2021, 09:19 AM IST

भीलवाड़ा । सहाड़ा उप चुनाव में भाजपा के बागी प्रत्याशी लादूलाल पितलिया के शुक्रवार दोपहर नाटकीय तरीके से गंगापुर उपखंड कार्यालय पहुंच कर अपना निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में भरा नामांकन पत्र वापस उठाने के बाद सियासी भूचाल आ गया। सीएम अशोक गहलोत से कर्नाटक सरकार से उनके परिवार के जान माल की सुरक्षा की गुहार और उनकी कार्यकर्ता से २.२० मिनट की बातचीत का ऑडियो वायरल होने से राजनीतिक व प्रशासनिक हलके में खलबली मच गई। इसके बाद देर रात पितलिया ने वीडियो जारी कर बताया कि वह दबाव में थे, लेकिन वह सहाड़ा क्षेत्र के लोगों की सेवा करते रहेंगे। पीतिलिया के आरोप व प्रत्यारोपों को लेकर भाजपा व कांग्रेस नेताओं ने अपने पक्ष रखे। Political turmoil in Sahada, Pitlia blasts bomb allegations


पीछे के रास्ते से आए, बेटा हुआ नाराज

भाजपा नेता एवं निर्दलीय प्रत्याशी लादूलाल पितलिया नामांकन पत्र उठाने के लिए दोपहर १२.१० बजे मुख्य गेट के बजाए उपखंड कार्यालय के पीछे के रास्ते से अपने पुत्र विजय व तीन अन्य करीबी रिश्तेदारों के साथ रिटर्निंग अधिकारी पंचोली के समक्ष पहुंचे। यहां नामांकन पत्र की वापसी का प्रार्थना पत्र देने के बाद वह वह वापस बाहर की तरफ जाने लगे। इसी दौरान मीडिया कर्मियों ने बात करने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं रूके और तेज गति से आगे बढ़ गए। एक मीडिया कर्मी के वीडियो बनाने पर उनका पुत्र विजय नाराज हो गया और वह उलझ गया, इससे दोनों के बीच कहासुनी हो गई। पितलिया वापस आए और बेटे को ले गए। दूसरी तरफ पितलिया ने एसडीएम कार्यालय से बाहर आने के बाद फिर अपना मोबाइल स्वीच ऑफ कर दिया। इससे उनके समर्थक बात नहीं होने से परेशान हो उठे।


सीएम के नाम पत्र वायरल, मांगी सुरक्षा

सोशल मीडिया पर पितलिया का ऑडियो के साथ वायरल हुआ मुख्य मंत्री अशोक गहलोत के नाम ३० मार्च को लिखा पत्र भी शुक्रवार को चर्चा में रहा। पितलिया के नाम से लिखे पत्र में लिखा गया है कि सहाड़ा उप चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र भरने पर कर्नाटक सरकार नामांकन वापसी के लिए दबाव बना रही है। इसके लिए बेंगलूर स्थित प्रतिष्ठानों को जबरन बंद करा दिया, इसी प्रकार परिजनों को भी प्रताडि़त किया जा रहा है। धमकाने वाले लोग खतरनाक है, यह लोग ईडी,आईटी व सीबीआई की कार्रवाई करवाने की धमकी भी दे रहे है। पत्र में सरकार से राजस्थान व कर्नाटक में पितलिया ने परिजनों के जानमाल की सुरक्षा की गुहार की है। पितलिया के मोबाइल स्वीच ऑफ से पत्र की सत्यतता सामने नहीं आ सकी है।

भाजपा बोली, पितलिया मोदी के पक्षधर

भाजपा जिलाध्यक्ष लादूलाल तेली ने बताया कि पितलिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार की लोकल्याणकारी नीतियों एवं भाजपा में विश्वास जताते हुए अपना नामांकन पत्र वापस लिया है। पितलिया ने अपने समर्थकों के साथ भाजपा के पक्ष में प्रचार करते हुए भाजपा प्रत्याशी रतनलाल जाट को विजयी बनाने की अपील की। तेली ने कहा कि सहाड़ा उपचुनाव में पितलिया ने भाजपा में पूर्णरूप से विश्वास जताते हुए अपना नामांकन वापस लिया है। इस दौरान भाजपा प्रदेश मंत्री एवं सहाड़ा चुनाव प्रभारी श्रवण सिंह बगड़ी मौजूद थे।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned