कोरोना से मुक्ति के लिए की दुआ

ईद-उल-जुहा पर्व पर घरों में की इबादत
सार्वजनिक व धार्मिक स्थान पर एकत्रित नहीं हुए कार्यक्रम

By: Suresh Jain

Published: 21 Jul 2021, 08:48 AM IST

भीलवाड़ा।
कोरोना के चलते इस बार भी ईद पर सामूहिक नमाज नहीं अदा की गई। राज्य सरकार की त्रि-स्तरीय जन अनुशासन 5.0 की गाइडलाइन के अनुसार बुधवार को को ईद-उल-जुहा का त्योहार घर पर ही मनाया गया। किसी भी सार्वजनिक व धार्मिक स्थान पर इबादत के लिए लोग एकत्र नहीं हो सके। पिछले साल भी कोरोना के कारण ईद की नमाज घरों में अदा की गई। सार्वजनिक स्थान पर नमाज नहीं पढ़ी गई थी। लोगो ने नमाज अदा करने के दौरान कोरोना से मुक्ति व देश में अमन व शान्ति की दुआ की है।
कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते सरकार ने सार्वजनिक कार्यक्रम पर पाबंदी लगा दी। श्रावण मास के दौरान कांवड यात्राएं व अन्य कोई भी धार्मिक कार्यक्रम में भीड़ एकत्रित नहीं कर सकेंगे। जैन धर्म व अन्य कई धर्मावलंबियों की ओर से चातुर्मास में भीड़ एवं आयोजन करने की अनुमति नहीं होगी। उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जिला कलक्टर शिवप्रसाद एम नकाते ने संबंधित अधिकारियों को पाबंद किया है कि भीड़-भाड़ वाले समस्त स्थान जैसे दुकानें, मॉल्स, बाजार, रेस्तरां, मंडियां, बस स्टेशनों, रेलवे स्टेशनों, सार्वजनिक पार्को आदि स्थानों पर कोविड की पालन किया जाना आवश्यक है। जो नियम नहीं मानता, उस पर कार्रवाई करें।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned