राजस्थान में यहां प्रधानाध्यापक की इस हरकत के खिलाफ एकजुट हुए बच्चे, ग्रामीणों के साथ यूं जता रहे विरोध

राजस्थान में यहां प्रधानाध्यापक की इस हरकत के खिलाफ एकजुट हुए बच्चे, ग्रामीणों के साथ यूं जता रहे विरोध

Nidhi Mishra | Publish: Sep, 14 2018 02:44:52 PM (IST) Bhilwara, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

करेड़ा/ भीलवाड़ा। प्रधानाध्यापक की लापरवाही से छात्र प्रतियोगिता में भाग नहीं लेने के मामले व प्रधानाध्यापकों द्वारा छात्र के भाई व भारतीय सेना के जवान नारायण गुर्जर के साथ बदसलूकी करने के मामले में युवाओं और ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया। ग्रामीण व युवा रैली के रूप में तहसील कार्यालय के बाहर पहुंचे तथा प्रधानाध्यापक को निलंबित करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।

 

जानकारी के अनुसार करेड़ा प्रधानाध्यापक श्यामलाल सेन की लापरवाही से छात्र खेल प्रतियोगिता में भाग लेने से वंचित रह गया। इसका उलाहना प्रधानाध्यापक को दिया, तो उन्होंने उल्टे छात्र व उसके भाई भारतीय सेना के जवान नारायण गुर्जर से बदसलूकी की। जिससे ग्रामीणों व युवाओं में रोष फैल गया। आक्रोशित युवा डाक बंगला रोड स्थित नए बस स्टैण्ड पर जमा हुए और वहां से रैली निकाल तहसील कार्यालय पहुंचे। प्रधानाध्यापक श्यामलाल सेन को निलंबित करने की मांग को लेकर छात्रों ने तहसील कार्यालय के बाहर जमकर नारेबाजी की तथा उपखंड कार्यालय के बार धरने पर बैठ गए। गौरतलब है कि प्रधानाध्‍यापक सेन द्वारा की गई बदसलूकी का ऑडियो वायरल हो गया था।

 

उधर, शहर के प्राइवेट बस स्टैण्ड के निकट बुधवार रात एमएलवी कॉलेज के नवनियुक्त छात्रसंघ अध्यक्ष शंकरलाल गुर्जर समेत कुछ लोग तलवार और सरिए लेकर जाट छात्रावास में घुस गए। जबरन कमरे में घुसकर छात्र से मारपीट की। यहीं नहीं बाइक जलाने का भी प्रयास किया। हंगामे की आवाज सुन आसपास के अन्य छात्रों के आ जाने से हमलावर भाग गए। कार्रवाई की मांग को लेकर छात्रावास से बड़ी संख्या में युवक देर रात सुभाषनगर थाने पहुंचे और प्रदर्शन किया। इस सम्बंध में रिपोर्ट थाने पर दी गई। घटना के पीछे हाल ही में हुए छात्रसंघ चुनाव में रंजिश माना जा रहा है।

 


पुलिस के अनुसार डोडवानियो का खेड़ा हाल जाट छात्रावास में रह रहे महावीर जाट ने रात में थाने पर रिपोर्ट दी। रिपोर्ट में आरोप लगाया कि रात में कमरे में पढ़ाई कर रहा था। इस दौरान हो-हल्ला सुनकर कमरे से बाहर आया तो उसे छात्रसंघ अध्यक्ष गुर्जर, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष गजेन्द्रसिंह राठौड़, पूर्व छात्रसंघ महासचिव रविसिंह राठौड़ समेत कुछ लोग हाथियार लेकर अंदर आते हुए नजर आए। महावीर ने उनको अंदर आने से रोका। छात्रसंघ अध्यक्ष गुर्जर का कहना था कि वह जीत गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned