पंचायत चुनाव तक टाली गांवों में घर-घर से कचरा उठाना

हर पंचायत को मिलने थे 20-20 लाख रुपए

By: Suresh Jain

Published: 27 Nov 2019, 03:01 AM IST

भीलवाड़ा।
svachchh bhaarat mishan स्वच्छ भारत मिशन में शहरों की तर्ज पर गांवों में भी कचरा प्रबंधन की तैयारी है लेकिन फिलहाल पंचायती राज चुनाव तक योजना को जमीन पर उतारना टाल दिया है। ऐसे में पंचायतों में घर-घर से कचरा एकत्र करने का काम रोक दिया है। इसके लिए सरकार हर पंचायत को 20 लाख रुपए देगी। अन्य योजना में हर पंचायत को मिलने वाले 35 लाख रुपए भी रोक दिए।

svachchh bhaarat mishan दरअसल हर पंचायत में घर-घर से कचरा एकत्र कर खाद बनाकर बेचने की योजना थी। कचरा उठाने के बदले लोगों से हर माह शुल्क लिया जाएगा। ग्रामसभा में इसकी प्रक्रिया समझाई जाएगी। ग्रामीणों को घरों में सूखे-गीले कचरे के लिए हरा व नीला डिब्बा रखना था। तय स्थान पर दिन में एक बार कचरा लेने गाड़ी आनी थी। इसे माहवार शुल्क देना होगा। सड़क-सार्वजनिक जगह पर पालतू मवेशियों का गोबर मालिक को उठाना होगा अन्यथा जुर्माना-केरिंग चार्ज लगेगा।

यह लगेगा शुल्क
घर 10 रुपए, दुकान, ढाबा, मिठाई की दुकान, चाय की थड़ी-150, गेस्ट हाउस, सरकारी या निजी हॉस्टल, रेस्टोरेंट-200 रुपए, सामान्य होटल 500, थ्रीस्टार होटल 800, थ्रीस्टार से बड़े होटल 1500 रुपए महीना, व्यावसायिक या सरकारी कार्यालय, बैंक, बीमा कार्यालय, कोचिंग क्लासेज, निजी या सरकारी शिक्षण संस्थाएं-250 रुपए, क्लिनिक, डिस्पेंसरी, लेबोरेट्रीज-500 रुपए, 50 बेड तक के क्लिनिक, हॉस्पिटल-1000, 50 बेड से अधिक क्लिनिक, डिस्पेंसरी, लेबोरेट्रीज-2000 रुपए, लघु-कुटीर उद्योग वर्कशॉप 10 किग्रा अवशिष्ट प्रतिदिन तक 400 रुपए, गोदाम, कोल्ड स्टोरेज 800 रुपए, शादी हॉल, उत्सव हॉल, प्रदर्शनी, मेला (3000 वर्ग मीटर तक)3000 रुपए चुकाना होगा।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned