दिगम्बर समाज 700 मुनियों की रक्षा का पर्व मनाएगा रक्षाबंधन

मुनि विद्यासागर महाराज के सान्निध्य में होगा कार्यक्रम

By: Suresh Jain

Published: 21 Aug 2021, 08:52 PM IST

भीलवाड़ा।
सकल जैन समाज रविवार को मुनि विद्यासागर महाराज ससंघ के सानिध्य में 700 मुनियों की रक्षा का पर्व, रक्षाबंधन के रुप में मनाएगा। 700 मुनियों की मंत्रोचार से पूजा के साथ श्रीफल चढ़ाए जाएंगे। सोमवार से भाद्रपद में जैन समाज सोलह कारण, रत्नत्रय, दशलक्षण, पुष्पांजलि आदि पर्व मनाते हुए व्रत, उपवास, त्याग, संयम आदि को धारण करेगा। सोमवार से 31 दिन तक चलने वाले सोलह कारण पर्व शुरू होगें।
विद्यासागर महाराज ने शनिवार को प्रवचन में कहा कि सम्यक्त्व से युक्त व्रत, नियम, संयम आदि अमूल्य रत्नों के समान हो जाते है। इनसे आत्मा कांतिमय हो जाती है। रत्नत्रय रुपी औषधि अनेक भवों के पाप कर्मो को जड़ से उखाड़ देती है। जीवन में भावनाओं का बहुत महत्व है। जैन ग्रंथों में कहा गया कि मनुष्य जैसी भावना भाता है, वैसा बन जाता है। हमारे मन में सारे संसार के कल्याण की प्रगाढ़ भावना ही निर्मल सम्यक दर्शन का रुप है। ऐसी भावनाएं तीर्थंकर प्रकृति के बंध के कारण बनती है।
---
जैन संस्कार विधि से रक्षाबंधन कार्यशाला
भीलवाड़ा . अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद के तत्वावधान में तेरापंथ युवक परिषद संस्था ने जैन संस्कार विधि से रक्षाबंधन कार्यशाला रखी। इसमें 10 से 12 भाई-बहन के जोड़े और ज्ञानशाला के 60 से 70 बच्चे शामिल हुए। शुरुआत मंगलाचरण से हुई। अशोक सिंघवी, अशोक बाफना, कुंदन सुतरिया ने कार्यशाला रखी। कार्यशाला के प्रभारी सुनील बाबेल व सहप्रभारी राकेश नगावत ने बताया कि सभी भाई बहनों ने एक दूसरे को राखी बांध कर जैन संस्कार से रक्षाबंधन पर्व मनाया। अन्त में अध्यक्ष संदीप चोरडिया ने आभार व्यक्त किया।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned