खुलासा: शातिराना तरीके से इस तरह दिया था 60 लाख के कपड़ों की लूट को अंजाम, आठ आरोपी गिरफ्तार

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

By: rohit sharma

Published: 16 Sep 2018, 06:32 AM IST

भीलवाड़ा।

शहर की एक औद्योगिक इकाई से साठ लाख रुपए के कपड़े की बुकिंग कराने के बाद फर्जी दस्तावेज व फर्जी चालक के जरिए लूट का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस मामले में प्रतापनगर पुलिस ने सरगना समेत चार जनों को गिरफ्तार कर लिया है। लूट का माल खरीदने के चार अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर हवालात दिखा दी गई। इस वारदात में पुलिस अब तक 40 लाख रुपए का कपड़ा बरामद कर चुकी है। प्रतापनगर थाने में न्यू ग्रीन केरियर्स इंडिया प्रा. लि. के प्रतिनिधि सुबरात अली ने पुलिस को रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जिसमें बताया गया कि 8 मार्च को 60 लाख की कीमत की कपड़े की गांठें एक ट्रक में अमृतसर के लिए रवाना की गईं। ट्रक मालिक व चालक रायला निवासी मोहनलाल बताया गया। घटना के पांच दिन बाद भी माल गंतव्य पर नहीं पहुंचा।

विनोद जाट व दिनेश जाट ने लूट की साजिश रची
सोची समझी साजिश प्रकरण दर्ज होने पर विशेष पुलिस टीम ने वारदात का खुलासा किया। पुलिस के अनुसार मुख्य आरोपी बन का खेड़ा निवासी विनोद जाट व रेडवास निवासी दिनेश जाट ने इस कपड़ा लूट की साजिश रची। दोनों ने ट्रक की फर्जी आरसी, चालक का फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस व फर्जी पेनकार्ड बनवाए। ट्रक पर फर्जी नम्बर लिखवा दिए साथ ही मध्यप्रदेश के पीपरिया से फर्जी नाम से सिम खरीदी गई।

तीनों बाइपास पर मिले
बन का खेड़ा निवासी भैरूलाल जाट को ट्रक का फर्जी चालक बनाया गया और उसके साथ होली खेलते हुए रंग से चेहरा बिगाड़ दिया। फर्जी सिम से भीलवाड़ा की कम्पनी को ऑर्डर देकर अमृतसर के लिए 60 लाख रुपए के कपड़ों की गांठे भरवाई गईं। भीलवाड़ा से ट्रक रवाना होने के बाद तीनों बाइपास पर मिले।

इन्हें बेचा कपड़ा
ट्रक को रेडवास निवासी लेखराज उर्फ कालूलाल जाट के मकान व कुएं पर खाली करवा दिया। बाद में कपड़ा पाली के भैरूघाट निवासी रमेश भाटी, बीगोद थाना क्षेत्र के देवली निवासी राधेश्याम शर्मा, देवली हाल आजादनगर निवासी विनोद कुमार वैष्णव तथा मोखमपुरा निवासी छोटूलाल जाट को बेच दिया।

Show More
rohit sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned