स्वच्छता टीम ने देखी ग्रामीण क्षेत्र की व्यवस्था

ग्रामीण क्षेत्र की साफ-सफाई जांचने के लिए केंद्रीय दल जिले के दौरे पर आया। दल ने 13 पंचायत समितियों के 29 गांवों का सर्वे किया।

By: Suresh Jain

Published: 05 Sep 2019, 10:50 AM IST

भीलवाड़ा ।
svachchh sarvekshan graameen 2019 ग्रामीण क्षेत्र की साफ-सफाई जांचने के लिए केंद्रीय दल जिले के दौरे पर आया। दल ने 13 पंचायत समितियों के 29 गांवों का सर्वे किया। कुछ में सफाई व्यवस्था ठीक नहीं मिली, जिन्हें टीम ने एक माह में दुरस्त करने को कहा। सुवाणा के रीछड़ा में गंभीर स्थिति मानी व ओडीएफ का दर्जा छीनने की चेतावनी दी। शाहपुरा के देवपुरी में पानी भरा होने से केवल धार्मिक स्थान का ही निरीक्षण किया। अन्य गांवों में स्थिति संतोषजनक मिली।
svachchh sarvekshan graameen 2019 स्वच्छ भारत मिशन के प्रभारी दिनेश चौधरी ने बताया कि चार-चार सदस्यों की चार टीमों ने २९ अगस्त से ३ सितम्बर तक २९ गांवों का दौरा किया। ग्रामीणों से फीडबैक लिया। धार्मिक स्थल, सामुदायिक शौचालय, चौपाल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, स्कूल सहित अन्य स्थानों का निरीक्षण किया। दल का सामूहिक फोटो लेकर ऑनलाइन फीड किया। टीम ने गांवों में शौचालय, डस्टबिन आदि की स्थिति देखी। लोगों से पूछा कि क्या सफ ाई से संतुष्ट हैं? शौचालयों की स्थिति व साफ. सफाई से संतुष्ट के बारे सवाल भी पूछे गए।

इनका निरीक्षण
svachchh sarvekshan graameen 2019 माण्डल के चैना का खेडा व भगवानपुरा, आसींद के जीवलिया व भनास, बनेडा के बनेडा व मूसा, हुरडा के रुपाहेली, शाहपुरा के नासरदा, देवपुरी व रेहड, जहाजपुर के अमरवासी, लुहारियां कलां, सरसिया व टिटोडी (जागीर), कोटडी के बनका खेडा, बोरडा, दोवली, माण्डलगढ के बरुदनी व थलाखुर्द, बिजौलियां के माल का खेडा़, सुवाणा के कुमारिया, भोपालगढ, दुदिया व रिछड़ा, सहाड़ा के चीडखेडा, सरगांव व शिवरती तथा रायपुर के बोरियापुरा व चारौट।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned