script नई सरकार-नए सपने: नए जिले शाहपुुरा में विकास की बड़ी संभावनाएं | Shahpura and Jahazpur | Patrika News

नई सरकार-नए सपने: नए जिले शाहपुुरा में विकास की बड़ी संभावनाएं

locationभीलवाड़ाPublished: Dec 09, 2023 09:17:38 am

Submitted by:

Suresh Jain

शाहपुरा व जहाजपुर में जीती भाजपा, जिसके बनने जा रही राज्य में सरकार

नई सरकार-नए सपने: नए जिले शाहपुुरा में विकास की बड़ी संभावनाएं
नई सरकार-नए सपने: नए जिले शाहपुुरा में विकास की बड़ी संभावनाएं

भीलवाड़ा जिले में विधानसभा चुनाव के परिणाम सामने आने के साथ ही जनता ने नए जनप्रतिनिधि चुन लिए। नए जिले शाहपुरा की दोनों सीट शाहपुरा व जहाजपुर की जनता ने फिर भाजपा पर विश्वास जताया, जिसकी राज्य में सरकार बनने जा रही है। पहले प्रदेश में सरकार कांग्रेस की थी। अब विधायक भी भाजपा एवं सरकार भी भाजपा की है। ऐसे में शहरवासियों की आशाएं बढ़ गई है।


शाहपुरा जिले की दोनों सीटों पर भाजपा काबिज हुई है। पिछली सरकार ने आखिरी साल में शाहपुरा को जिला, नगर पालिका को नगर परिषद, जिला अस्पताल की सौगात दी। नया जिला बनने से आवश्यकताएं बढ़ी है तो जिले के नए खुले कार्यालयों का सुचारू संचालन भी शुरू होना है। जिले के नए कार्यालयों के मैप तैयार होने हैं। इस मैप के अनुरूप प्रशासनिक व्यवस्था का संचालन किया जाना है। इससे जिले से जुड़े काछोला, कोटड़ी की पंचायतों के लोगों की आशाएं जुड़ी है। इन आशाओं पर सरकार को खरा उतरना होगा।

नए जिले में चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ करना होगा। अब जिले के अधिकारी बैठ गए हैं, लेकिन बजट से अप्रेल के बाद ही व्यवस्थाएं सुचारू होगी। ऐसे में नए जिले में शाहपुरा विधायक लालाराम बैरवा व जहाजपुर विधायक गोपीचंद मीणा की भूमिका अहम रहेचिकित्सा, सड़क़, उद्योग, खनन, पर्यटन, शिक्षा, पेयजल व परिवहन आदि को लेकर जिले में जनप्रतिनिधियों से आशाएं बढ़ गई है।


चिकित्सा

शाहपुरा में सालों से चिकित्सा व्यवस्था सुदृढ करने की मांग है। जिला अस्पताल तो मिला, लेकिन अब मेडिकल कॉलेज की भी आस जगी है। जिला मुख्यालय होने से यह मांग मुखर होगी। जिला चिकित्सालय में चिकित्सकों व स्टाफ की कमी है। इसको पूरा करवाने में यहां के विधायकों की भूमिका खास होगी। सीएमएचओ कार्यालय खुल चुका है। ऐसे में इस कार्यालय में संसाधन व स्टाफ की मांग को पूरा करना होगा। दूरदराज के गांवों में भी बेहतर चिकित्सा व्यवस्था की मांग रहेगी।


सड़क

सड़कों की दृष्टि से देखे तो शाहपुरा प्रदेश के सभी शहरों से जुड़ा है। शाहपुरा जयपुर, उदयपुर, कोटा से जुड़ा है। ब्यावर-भीलवाड़ा मेगा हाइवे से जुड़ा है। बाइपास का काम चल रहा है।


उद्योग

शाहपुरा जिले में केवल हिन्दुस्तान जिंक है। जिले में कोई बड़ा उद्योग नहीं है। ऐसे में शाहपुरा जिले में कपड़ा उद्योग की बड़ी संभावना है। यहां मिनरल उद्योग को मजबूत करने के लिए खनन क्षेत्र को बढ़ावा देना होगा। जिले के आसपास के क्षेत्र में अलग-अलग मिनरल की खानें है। जहाजपुर क्षेत्र में बनास नदी है। यहां बजरी क्षेत्र भी शामिल हो गया। क्षेत्र में अवैध खनन करने वाला माफिया भी सक्रिय है। इस पर अंकुश लगाने की आवश्यकता है। जिले में पर्यटन व शिक्षा के क्षेत्र में भी काम करना होगा।

ट्रेंडिंग वीडियो