विद्यार्थियों को कराया शास्त्रीय गायन के जादू से रूबरू

रोनिता के शास्त्रीय गायन से सुबालक्ष्मी जन्म शताब्दी समारोह का आगाज

By: tej narayan

Updated: 11 Sep 2017, 02:23 PM IST

भीलवाड़ा।

भारत रत्न शास्त्रीय गायिका एमएम सुबालक्ष्मी के जन्म शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में स्पिक मैके (सोसायटी फॉर द प्रमोशन ऑफ इण्डियन क्लॉसिकल म्यूजिक एण्ड कल्चरल एम्गस्ट यूथ) भीलवाड़ा चैप्टर सोमवार से 16 सितम्बर तक विभिन्न कार्यक्रम करेगा। भीलवाड़ा के कई सरकारी एवं अद्र्धसरकारी स्कूलों में शास्त्रीय संगीत नृत्य एवं गायन कार्यक्रम होंगे।

 

READ: 1962 के युद्ध को भूल गया चीन, जब हमारे सैनिको ने चटा दी धूल  

 

चैप्टर समन्वयक कैलाश पालिया ने बताया कि जन्म शताब्दी वर्ष का आगाज भीलवाड़ा में सोमवार को भारतीय  शास्त्रीय गायन की कलाकार रोनिता डे की प्रस्तुति से हुआ। कलाकार कोऑर्डिनेटर अनुकृति एवं अनुसृति जैन के अनुसार कसुर पटियाला घराने की भारतीय शास्त्रीय गायन की कलाकार रोनिता डे ने छात्र-छात्राओं को संगीत की बारीकियां सिखाने के साथ शास्त्रीय संगीत की परम्परा में गाई जाने वाली विधाओं से रूबरू कराया। वे कई राष्ट्रीय एवं अन्तराष्ट्रीय संगीत समारोह में भी शिरकत कर चुकी है।

 

READ: शहीद अब्दुल हमीद ने 1965 में पाक सेना के छुड़ा दिए थे छक्के  

 

डे पहले दिन दो स्कूलों में शास्त्रीय गायन की प्रस्तुति देंगी। सुबह राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय राजेन्द्र मार्ग में प्रस्तुति दी। रोनिता डे की द्वितीय प्रस्तुति दोपहर 12 बजे से राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय बिलियाखुर्द में शुरू हुई रोनिता डे के साथ तबले पर जयपुर कत्थक घराने के कलाकार चेतन कुमार जवड़ा ने साथ दिया।

 

 

कौन है रोनिता डे

रोनिता डे का जन्म कोलकत्ता के संगीत से जुड़े परिवार में हुआ था। भारतीय शास्त्रीय संगीत की विधिवत शिक्षा 4 वर्ष की उम्र में ही 'कसूर पटियाला घरानाÓ के कलाकार बड़े गुलाम अली खां एवं उनके पुत्र उस्ताद मनवर अली खां से गुरू शिष्य परम्परा में ग्रहण की। वे कई राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय संगीत समारोह में भी शिरकत कर चुकी है।

 

बच्चे हुए मंत्रमुग्ध
कलाकार रोनिता डे की प्रस्तुति पर वहां मौजूद विद्यार्थी मंत्रमुग्ध हो गए। उन्होंने छात्र-छात्राओं को संगीत की बारीकियां सिखाने के साथ शास्त्रीय संगीत की परम्परा में गाई जाने वाली विधाओं से रूबरू कराया। छात्र—छात्राओ ने पूरी तल्लीनता के साथ शास्त्री संगीत की बारीकियां सीखी। वे कई राष्ट्रीय एवं अन्तराष्ट्रीय संगीत समारोह में भी शिरकत कर चुकी है।

tej narayan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned