टेम्पो से ही कर रहे थे नशे की तस्करी

पुर थाना पुलिस और जयपुर की सीआईडी सीबी ने संयुक्त कार्रवाई करते सोमवार देर रात पुर बाइपास पर नाकाबंदी में लोडिंग टेम्पो से 560 किलो गांजा बरामद किया। मौके से उदयपुर के चार जनों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने टेम्पो के आगे एस्कॉर्ट कर रही कार भी जब्त की।

By: Narendra Kumar Verma

Published: 15 Sep 2021, 11:53 AM IST

भीलवाड़ा। पुर थाना पुलिस और जयपुर की सीआईडी सीबी ने संयुक्त कार्रवाई करते सोमवार देर रात पुर बाइपास पर नाकाबंदी में लोडिंग टेम्पो से 560 किलो गांजा बरामद किया। मौके से उदयपुर के चार जनों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने टेम्पो के आगे एस्कॉर्ट कर रही कार भी जब्त की।

मादक पदार्थ आंध्रप्रदेश से खरीदा गया था और शाहपुरा ले जाना था। पुर पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट में मामला दर्ज किया गया। पकड़े गांजे की कीमत करीब 56 लाख रुपए आंकी जा रही है। जिले में गांजा बरामदगी की यह अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है।

पुर थानाप्रभारी गजराज चौधरी के अनुसार जयपुर की सीआईडी सीबी से जानकारी मिली कि उदयपुर पॉसिंग की सफेद कार उदयपुर से भीलवाड़ा आ रही है। उसके आगे टेम्पो चल रहा है, जिसमें अवैध मादक पदार्थ है। चौधरी के नेतृत्व में टीम ने पुर चौराहे पर नाकाबंदी की। तभी गंगापुर की ओर से कार आई, जिसके आगे टेम्पो चल रहा था। पुलिस को देखकर चालक वाहन वापस घूमाकर ले जाने लगे। पुलिस ने पीछा कर दोनों वाहनों को रोका। टेम्पो व कार में दो-दो जने सवार थे।

वाहन घूमाने का संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। दोनों वाहनों को थाने लाए। लोडिंग टेम्पो से 13 कट्टों में 560 किलो 800 ग्राम गांजा बरामद हुआ। पुलिस ने दोनों वाहनों में सवार उदयपुर के सविना रोशन जी की बाड़ी, हिरण मंगरी निवासी नारायण मीणा, सलाड़ा (उदयपुर) देवीलाल मीणा, प्रताप नगर (उदयपुर) निवासी आसू तलरेजा (सिंधी) तथा बबोरा हाल गोरियावास (उदयपुर) निवासी दयाराम वैष्णव को गिरतार किया। सीआई चौधरी ने बताया कि आरोपियों से प्रारंभिक में सामने आया कि मादक पदार्थ आंध्रप्रदेश से खरीदा गया। इसे उदयपुर के रास्ते भीलवाड़ा के शाहपुरा पहुंचाना था। शाहपुरा में किसे माल सप्लाई करना था और किससे माल खरीदा गया। इस बारे में पुलिस पूछताछ कर रही है।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned