भीलवाड़ा एमजीएच में नहीं मिल रहे अभी भी ऑक्सीजन बेड

Still not getting oxygen beds at Bhilwara MGH एमजी चिकित्सालय को छोड़ कर निजी चिकित्सालयों में ऑक्सीजन युक्त कुल 40 बेड खाली थे। महात्मा गांधी चिकित्सालय के अधिग्रहित आयुष में अम्बेश में hi आठ बेड खाली थे।

By: Narendra Kumar Verma

Published: 11 May 2021, 04:57 PM IST

भीलवाड़ा। कोरोना संकट काल में अच्छी खबर यह है कि एक पखवाड़े की मारामारी के बाद शहर के निजी हॉस्पिटलों में अब ऑक्सीजन युक्त बेड मिलने की उम्मीद जगने लगी है। शाम को एमजी चिकित्सालय को छोड़ कर निजी चिकित्सालयों में ऑक्सीजन युक्त कुल 40 बेड खाली थे। Still not getting oxygen beds at Bhilwara MGH

जबकि महात्मा गांधी चिकित्सालय के अधिग्रहित आयुष में अम्बेश में कुल आठ बेड खाली थे। गत 22 अप्रेल से लेकर सात मई के बीच में खाली बेड की स्थिति स्पष्ट नहीं थी, यहां स्थिति यह है कि बेड खाली होने की जानकारी मात्र से ही सामान्य वार्ड में भर्ती रोगी के परिजन बेड लेने के प्रयास में जुट जाते है। दूसरी तरफ कई गंभीर रोगियों के भी अचानक आ जाने से उन्हें ट्रोमा या इमरजेंसी से सीधे आईसीयू में भी लिया जा रहा है।

नहीं हो रही रोगियों की कमी

आईएमए अध्यक्ष डॉ. दुष्यंत शर्मा ने बताया कि अप्रेल के अंत में गंभीर किस्म के रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ी थी, लेकिन स्थिति में आंशिक सुधार है। हालांकि कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या में कमी नहीं आई है। ऑक्सीजन युक्त बेड व वेंटिलेटर की मांग बनी हुई है। रोगियों को त्वरित उपचार मिल सके, सभी निजी चिकित्सालय यह प्रयास कर रहे है।


कलक्ट्रेट स्थित कोविड वार रूम के अनुसार ऑक्सीजन युक्त बेड की निजी चिकित्सालयों में उपलब्धता होने लगी है। शाम को शहर के निजी चिकित्सालयों में कुल 40 ऑक्सीजन युक्त बेड खाली थे, गत एक सप्ताह की रिपोर्ट के मुताबिक यह संख्या करीब चार गुनी है।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned