शक्कर 50 व चने की दाल 100 रुपए किलो

कोरोना वायरस में व्यापारी कर रहे कालाबाजारी

भीलवाड़ा

Corona virus कोरोना वायरस के चलते उपभोक्ताओं को खाद्य सामग्री नहीं मिल पा रही है। वही मंगलवार रात से २१ दिन का ब्लॉक डाउन लागू होने के बाद बुधवार को शहर में चक्कर व चने की दाल के दाम एकाएक बढ़ गए है। Corona virus लेकिन प्रशासन इस कालाबाजारी को रोकने में नाकाम हो रहा है। सब्जी आम लोगो के पास पहुंच नहीं रही है। जहां मिल रही है वह भी ३० से ४० रुपए किलोग्राम महंगी मिल रही है।
शहर में बुधवार सुबह कुछ दुकाने खुलने के साथ ही शेयर मार्केट की तरह सब्जियों व खाद्य सामग्री के दाम में भी भारी उछाल आ गया है। बाजार नम्बर दो में सुबह एक-दो दुकान वाले शक्कर ५० रुपए किलोग्राम की दर से तो चने की दाल के दाम १०० रुपए किलोग्राम तक बोले गए है। उपभोक्ता भी २१ दिन कसे ब्लॉक डाइन के चलते इस दर में भी खाद्य सामग्री लेने को तैयार थे।
उधर उपभोक्ता भंडार के महाप्रबन्धक सुरेन्द्रसिंह खंगारोत का कहना था कि शक्कर दाम थोक व्यापरियों ने बढ़ा दिए है। भंडार को शक्कर की दर बढ़ाकर ४० रुपए किलोग्राम करनी पड़ी है। वही चने की दाम के दाम ६५ रुपए किलोग्राम किए गए है। जबकि आलू व प्याज २०-२० रुपए किलोग्राम में बेचे जा रहे है।
..............
आदेश मिले न पास फिर कैसे बेचे सामान
आम लोगों को खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने के लिए शहर के सभी वार्डो में व्यापारियों की मोबाइल नम्बर सहित सूची जारी की है। इन सूची में कई दुकानदारों के पास न तो खाद्य सामग्री थी और ना ही माल लाने व ले जाने के लिए उनके पास किसी तरह का पास था। इस सूची में कुछ नंबर गलत तो कुछ फोन नहीं उठाते है। जिला प्रशासन द्वारा वार्डवाइज किराना स्टोर्स की जो सूची जारी की गई है, उसमें कुछ किराना स्टोर के नंबर गलत बताए गए हैं। कई फोन नहीं उठा रहे। आरके कॉलोनी निवासी हरीशंकर का कहना है कि तीन दिन से एक भी वाहन सामान लेकर इधर नहीं आया है। वार्ड के लोग परेशान हैं। पूजा प्रोविजन स्टोर के दोनो नम्बर गलत है तो कैलाश राठोड़ का कहना है कि उसके पास पास तक नहीं है। सामान भी नहीं है फिर भी सूची जारी कर दी गई। प्रशासन का अभी कोई आदेश भी नहीं मिला है। उधर, प्रशासनिक सूत्रों का कहना है कि यदि जारी सूची में किसी तरह की परेशानी है तो उसे सुधार किया जाएगा।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned