शहर के 5 हजार घरों का सर्वे

शहर के 5 हजार घरों का सर्वे
Survey of 5 thousand houses of the city in bhilwara

Suresh Jain | Updated: 11 Oct 2019, 09:00:17 PM (IST) Bhilwara, Bhilwara, Rajasthan, India

बुखार के 180 व जुखाम के 107 रोगी मिले, एक हजार स्थानों पर एमएलओ डाला

भीलवाड़ा।
medical Department जिले में मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया एवं स्क्रब टाइफस को लेकर चिकित्सा विभाग की ओर से तीन दिन का महाअभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत शुक्रवार को शहर के विभिन्न क्षेत्रो में 200 टीमो के माध्यम से सर्वे किया जा रहा है। अभियान के तहत घर-घर जाकर सर्वे, एन्टीलार्वल गतिविधियों एवं इनके बचाव की जानकारी दी जा रही है।
medical Department अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं स्वास्थ्य अधिकारी धनश्याम चावला ने बताया कि शुक्रवार शहरी क्षेत्र की एएनएम, आशा, नर्सिंग विद्यार्थियों की टीमे गठित कर सुबह साढ़े सात बजे सीएमएचओ कार्यालय से शहर के माणिक्य नगर, कोलीपाडा, मारूति कॉलोनी, शास्त्रीनगर सेक्टर ए, वार्ड संख्या 48 व 18, बिलिया खुर्द, पुर कच्ची बस्ती, गांधीनगर, रामनगर क्षेत्रों में घर-घर जाकर मरीजों की स्क्रीनिंग कर एन्टीलार्वल गतिविधियां आयोजित की गई। टीमो की मोनेटरिंग एपीडेमियोलोजिस्ट डॉ. सुरेश चौधरी, शहरी कार्यक्रम प्रबंधक सुनील पाठक, चिकित्सा अधिकारी डॉ. अनुराग शर्मा, डॉ. गोपाल राजोरा, तरूण चाष्टा, प्रवीण कुमार एवं पब्लिक हेल्थ मैनेजर ने किया।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुस्ताक खान ने बताया कि सर्वे के दौरान गठित टीमों ने 5 हजार से अधिक घरों का सर्वे कर 23 हजार 110 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। इस दौरान 180 व्यक्तियों की ब्लड स्लाईड लेकर 180 बुखार, 107 जुखाम के रोगियों का पता लगाकर दवा दी गई। 800 से अधिक स्थानो पर टेमीफोस व एक हजार स्थानों पर एमएलओ डाला गया तथा फोगिंग की गई। मौसमी बीमारियों के बचाव को लेकर जिला स्तर पर स्थापित कन्ट्रोल रूम पर कोई भी व्यक्ति 01482.232643 पर सूचना दे सकता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned