भीलवाड़ा कांग्रेस दफ्तर पर अब रहता है ताला

कोरोना काल और कार्यकर्ताओं की उदासीनता ने जिला कांग्रेस कार्यालय की रौनक छीन ली है। इसके पीछे मोटा कारण जिलाध्यक्ष रामपाल शर्मा के आवास स्थित कार्यालय पर ही पार्टी के अधिकांश कार्य हो रहे है, दूसरी तरफ पार्टी के सभी प्रमुख नेताओं ने अपने अपने निजी प्रतिष्ठानों व घरों में ही कार्यालय खोल रखे है।

By: Narendra Kumar Verma

Published: 17 Jun 2020, 09:26 PM IST

भीलवाड़ा। कोरोना काल और कार्यकर्ताओं की उदासीनता ने जिला कांग्रेस कार्यालय की रौनक छीन ली है। इसके पीछे मोटा कारण जिलाध्यक्ष रामपाल शर्मा के आवास स्थित कार्यालय पर ही पार्टी के अधिकांश कार्य हो रहे है, दूसरी तरफ पार्टी के सभी प्रमुख नेताओं ने अपने अपने निजी प्रतिष्ठानों व घरों में ही कार्यालय खोल रखे है।

कांग्रेस ने अपनी स्थाई ठौर जिला मुख्यालय पर वर्ष १९८१ में ही बना ली थी, शहर के मध्य स्थित महिला आश्रम की पानी की टंकी के नीचे एक बीघा क्षेत्र में निर्मित जिला कांग्रेस कार्यालय परिसर में इन दिनों वीरानी छाई हुई है। जयपुर में देश की राजनीति गरमाई होने एवं नगरीय चुनाव की गरमाहट होने के बावजूद जिला कांग्रेस कार्यालय में वीरानी पसरी हुई है।

यहां कोरोना संक्रमण के बाद से अकसर सन्नाटा पसरा रहता है। जो पूर्व में यहां कार्यालय में नेता या वरिष्ठ नेता आते थे वो भी अब आने से कतरा रहे है। एेसे में यहां आम दिनों में अकसर ताला ही लगा रहता है। यहां बिजली व पानी के कनेक्शन है, लेकिन ये घरेलू श्रेणी में है। भवन परिसर में पिछवाड़े की तरफ गैराज है।

पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष कैलाश व्यास बताते है कि पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ पहाडि़या ने ४ जुलाई १९८१ को कांग्रेस कार्यालय का शुभारम्भ किया, इसके बाद भवन का नियमित अंतराल में विस्तार हुआ, यहां कई जिलाध्यक्ष बैठ चुके है अभी भी यहां कांग्रेस की जिला रणनीति बनती है।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned