अदालत ने माना-खराब है अंडरब्रिजों की हालत, जज ने लिया शहर का जायजा

स्थाई लोक अदालत के न्यायाधीश विष्णुदत्त शर्मा और सदस्यों ने मंगलवार को शहर में विभिन्न अण्डरब्रिजों की हालत का जायजा लिया

By: tej narayan

Published: 25 Apr 2018, 12:48 PM IST

भीलवाड़ा।
स्थाई लोक अदालत के न्यायाधीश विष्णुदत्त शर्मा और सदस्यों ने मंगलवार को शहर में विभिन्न अण्डरब्रिजों की हालत का जायजा लिया। अदालत ने नगर परिषद के आवारा पशुओं को रखने का स्थल काइन हाउस भी देखा, जो खाली पड़ा था, जबकि शहर में आवारा पशुओं की भरमार है।अंडरब्रिज और आवारा पशुओं पर दायर परिवाद की सुनवाई के दौरान मंगलवार को लोक अदालत के न्यायाधीश शर्मा ने शहर का जायजा लिया। शहर के कई अण्डरब्रिजों की हालत खराब पाई गई।

 

READ: पीडि़तों की मदद में 'सरकार ' की ना, ट्रस्ट से चुनाव जीतने पर सबकी हां

 

अंडरब्रिज की सड़कें जगह-जगह टूटी थी। उनमें बड़े-बड़े गड्ढे थे। लोक अदालत जज ने हालत दयनीय बताई। गौरतलब है कि लोक अदालत में जिला कलक्टर, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, नगर विकास न्यास के सचिव, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अभियंता और रेलवे के खिलाफ परिवाद दायर किया। रेलवे फाटक बंद होने पर लोग अण्डरब्रिज का सहारा लेते है। एेसे में अण्डरब्रिजों में बनी सड़कों की हालत खराब होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है। दौरे में परिवादी आजाद शर्मा और कैलाश सोनी भी साथ में थे।

 

READ: हाथ जोड़ बोले डीटीओ, श्रीमान पालना करो यातायात नियमों की


काइन हाउस का भी लिया जायजा

न्यायाधीश विष्णुदत्त शर्मा ने आवारा पशुओं को रखने के लिए हरणी महादेव रोड स्थित काइन हाउस का भी जायजा लिया। वहां उनको मवेशी मिले ही नहीं, जबकि शहर में आवारा मवेशी आमजन के लिए परेशानी का सबब बने हुए है। आवारा मवेशी चारा-पानी के लिए भटकते रहते है। अधिवक्ता गणेशलाल शर्मा ने इसे लेकर परिवाद अदालत में दायर किया था। इसमें बताया गया था कि मवेशियों को काइन हाउस भेजना जाना चाहिए।


नारायणपुरा में अंडरब्रिज बनाने की उठाई मांग

हमीरगढ. खैराबाद पंचायत के ग्रामीणों ने मंगलवार को नारायणपुरा गांव में अंडरब्रिज की मांग को लेकर तहसीलदार सुंदरलाल बम्बोडा को कलक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा। ग्रामीणों ने बताया कि नारायणपुरा में रेलवे पटरी के एक तरफ विद्यालय होने से बच्चों को रोजाना रेल लाइन पार करनी पड़ती है। हमेशा हादसे की आशंका बनी रहती है। अधिकतर ग्रामीणों के खेत भी रेललाइन के उस तरफ होने से ग्रामीणों को भीलाइन पार कर खेतों में जाना पड़ता है। मवेशियों लाने ले जाने में परेशानी होती है। ग्रामीणों ने समस्या के समाधान के लिए नारायणपुरा गांव में अंडरब्रिज बनाने की मांग की। पूर्व सरपंच भगवत सिंह राठौड़, पंच गोपाल शर्मा, भंवरलाल गाडरी, कालु लाल कीर समेत कई ग्रामीण उपस्थित थे।

tej narayan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned