भगवान के चरणों की मिट्टी भी अहम: सुधासागर

बिजौलियां में पंचकल्याणक महोत्सव: वातावरण का शुद्धीकरण करते हैं धार्मिक आयोजन

By: Suresh Jain

Updated: 12 Feb 2021, 09:23 AM IST

भीलवाड़ा।
जिले के बिजौलियां में मुनि सुधासागर के सानिध्य में कस्बे के दिगंबर जैन पारसनाथ तीर्थ क्षेत्र पर पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव का शुभारंभ गुरुवार को ध्वजारोहण से हुआ। सुधासागर ने कहा कि भारतीय संस्कृति में भगवान के चरण नहीं उनके चरणों की रज की भी अहमियत होती है। ऐसे धार्मिक आयोजनों से वातावरण की अशुद्धियां दूर होती है। आने वाले समय में कोरोना जैसी बीमारी भी पलायन करेगी।
ध्वजारोहण कार्यक्रम में जैन आर्मी के युवकों की मार्च पास्ट ने लुभाया। बालिका मंडल का मंगलाचरण व युवा मंडल का ध्वज गीत सराहा गया। ध्वजारोहण अहमदाबाद के विनय जैन व आभा जैन की ओर से अशोकनगर के प्रतिष्ठा आचार्य ब्रह्मचारी प्रदीप भैया के निर्देशन में मंत्रोचार के साथ संपन्न हुआ। अतिथियों का दिगंबर जैन पारसनाथ तीर्थ क्षेत्र कमेटी के पदाधिकारी लाभचंद पटवारी, प्रकाशचंद गोधा, दिनेश काला, गुलाबचंद सेठिया, भगवतीलाल महिवाल, नाथूलाल सावला, सुरेश पटवारी ने स्वागत किया।
विभिन्न रंगों के गुब्बारे व ड्रोन से पुष्प वर्षा आकर्षक रही। पंच कल्याणक मंडप व तीर्थ क्षेत्र में नवीनीकरण भोजनशाला का उद्घाटन किया गया। मंच पर मुनि सुधासागर के साथ मुनि महासागर, मुनि निष्कम्प सागर, क्षुण गंभीर सागर, क्षुण्धैर्य सागर भी थे। ध्वजारोहण के बाद पंचकल्याणक की क्रियाओं में सरलीकरण, गर्भ क्रियाएं हुई। मांडलगढ़ के विधायक गोपाल खंडेलवाल, टोंक की जिला प्रमुख सरोज बंसल, पूर्व विधायक विवेक धाकड़, प्रधान आशा भील, उपप्रधान कैलाश धाकड़, मांडलगढ़ पालिका के चेयरमैन संजय डांगी, बिजौलियां सरपंच पूजा चंद्रवाल, थड़ौदा सरपंच राजेश धाकड़, एसडीएम महेशचंद मान, पुलिस उपाधीक्षक सज्जन सिंह आदि मौजूद थे।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned