हालात जल्द ठीक होंगे और...हम वापस आएंगे

1261 श्रमिक बिहार के पूर्णिमा के लिए हुए रवाना

By: Suresh Jain

Published: 28 May 2020, 10:14 PM IST

भीलवाड़ा .

रेलवे स्टेशन से गुरुवार शाम को 1261श्रमिक बिहार के पूर्णिमा के लिए स्पेशल ट्रेन से रवाना हुए। श्रमिकों ने हाथ हिलाकर बाय-बाय किया। लॉकडाउन में दो महीने तकलीफ झेलने के बाद श्रमिकों के चेहरों पर घर लौटने की खुशी साफ झलक रही थी। ट्रेन में १२०० महिला पुरुष और ६१ बच्चे रवाना हुए। इससे पहले जिले के विभिन्न तहसील क्षेत्रों से श्रमिकों को बसों में रेलवे स्टेशन लाया गया। यहां पहले उन्हें बाहर लगाए टैंट में बिठाया और इसके बाद सभी को टिकट वितरित किए गए। इसके बाद उन्हें अंदर रेलवे स्टेशन पर बैठाया गया। करीब 2 बजे से श्रमिकों को ट्रेन में बैठना शुरू किया। श्रमिकों को प्लेट फॉर्म के अंदर ही खाने के पैकेट और पानी की बोतलें वितरित की गई। शाम ५.५५ बजे पर ट्रेन रेलवे स्टेशन से रवाना हुई। ट्रेन अपने तय समय से कुछ देरी से रवाना हुई। इस ट्रेन में जयपुर से 11 जिलों के बिहारी श्रमिक और बैठेंगे। प्रशासन ने श्रमिकों के लिए रेलवे से 1600 टिकिट खरीदे हैं।
इस मौके पर जिला कलक्टर राजेंद्र भट्ट, मांडल विधायक रामलाल जाट, एडीएम सिटी नंदकिशोर राजौरा, एडीएम (प्रशासन) राकेश कुमारए एएसपी राजेश मीणा, डीएसपी भंवर रणधीर सिंह, डीएसपी राहुल जोशी, स्टेशन अधीक्षक राधेश्याम शर्मा ने तालिया बजाकर ट्रेन को रवाना किया। भीलवाड़ा से यह तीसरी श्रमिक स्पेशल ट्रेन रवाना हुई है।
दो माह के लॉक डाउन के चलते फैक्ट्रियां व अन्य उद्योग धंधे बंद होने से प्रवासी मजदूरों की स्थिति दयनीय हो गई थी। रोजगार के संकट के साथ-साथ खाने-पीने की परेशानी भी इन श्रमिकों के सामने आ खड़ी हुई थी। ऐसे में इन श्रमिकों ने अपने घर लौटने के लिए जिला प्रशासन के समक्ष पंजीकरण करवाया था।
श्रमिकों को स्टेशन में प्रवेश देने से पहले उनकी चिकित्सा टीम ने स्क्रीनिंग की, ताकि कोई संक्रमित और कोरोना संक्रमित श्रमिक ट्रेन में सवार न हो सके। बिहारी श्रमिकों के लिए प्रशासन ने रेलवे से 11 लाख 4 हजार रुपए के 1600 टिकिट खरीदे हैं। श्रमिक स्पेशल ट्रेन शाम को ५.५५ बजे 1261 यात्रियों को लेकर पूर्णिया के लिए रवाना हुई। ट्रेन यहां से सीधे जयपुर स्टेशन पहुंचेंगी, जहां से अन्य 11 जिलों के शेष श्रमिकों को लेकर बिहार के पूर्णिया, पटना स्टेशन के लिए चलेंगी।
९ बालक आए
सूत्रों का कहना है कि उदयपुर मदरसे से करीब ९ बालक भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन आ गए थे। उनके बारे मे प्रशासन ने जानकारी लेने के बाद इन्हें भी बिहार के लिए रवाना कर दिया। इस दौरान किसी भी मीडियाकर्मी को पास तक नहीं आने दिया गया।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned