कफ्र्यू का तीसरा दिन और कड़ा, पुलिस की सख्ती

कोरोना महामारी को देखते वीकेंड पर लगाया कफ्र्यू सोमवार को जन अनुशासन कफ्र्यू में तब्दील हो गया। कफ्र्यू के चलते भीलवाड़ा में सोमवार को भी बाजार में सन्नाटा रहा। राज्य सरकार की नई गाइड लाइन के बाद सोमवार को अधिकांश सरकारी कार्यालय, शिक्षण संस्थान व कई औद्योगिक इकाई बंद रही।

By: Narendra Kumar Verma

Published: 19 Apr 2021, 12:02 PM IST

भीलवाड़ा। कोरोना महामारी को देखते वीकेंड पर लगाया कफ्र्यू सोमवार को जन अनुशासन कफ्र्यू में तब्दील हो गया। कफ्र्यू के चलते भीलवाड़ा में सोमवार को भी बाजार में सन्नाटा रहा। राज्य सरकार की नई गाइड लाइन के बाद सोमवार को अधिकांश सरकारी कार्यालय, शिक्षण संस्थान व कई औद्योगिक इकाई बंद रही। लोगों को घरों में रखने को चौराहों पर पुलिसकर्मी तैनात रहे। आने-जाने वालों से पूछताछ की गई। बेवजह घूमने वालों पर सख्ती बरती गई। इमरजेंसी सेवा के लिए आने-जाने वालों को नहीं रोका गया। पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा समेत अन्य अधिकारियों ने बाजार में घूमकर हालात देखे। उधर, नगर परिषद की ओर से दमकल के जरिए छिड़काव करके बाजार को सैनिटाइज किया गया।


शहर एवं जिले में तीसरे दिन सोमवार को शहर समेत जिले में बाजार बंद रहे। वहां सन्नाटा पसरा रहा। सुबह से पुलिस ने प्रमुख चौराहों पर मोर्चा संभाल रखा था। आने-जाने वालों से रोककर सख्ती की गई। इमरजेंसी सेवा के लिए जाने वालों को नहीं रोका गया। उधर, जिला प्रशासन ने शनिवार रात को ही शहर के प्रमुख चौराहों और गलियों में बल्लियों में अवरोधक लगाकर रास्ते बंद कर दिए। इससे कोरोना चेन तोडऩे के लिए और सख्ती की जाएगी।

दूध-सब्जी वालों को नहीं रोका

कफ्र्यू को देखते जरूरी सप्लाई वालों को नहीं रोका गया। गैस सिलेण्डर, दूध और दवाइयों की बिक्री यथावत रही। पुलिस के साथ चौराहों पर यातायात पुलिस भी मोर्चा संभाले रही। थानाप्रभारी अपने इलाके में गश्त करते नजर आए। भीमगंज थाना क्षेत्र में पुलिस ने कड़ी सख्ती दिखाई।


दूध की आड़ में खोली दुकान

गली-मोहल्लों में दूध की आड़ में कई दुकानें खुली मिली। यहां व्यापारी गुटखे, पान-मसाला, सिगरेट, बीड़ी और अन्य खाद्य सामग्री बेच रहे थे।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned