पहली बार मिले तीन ईसीजी टेक्नीशियन

महात्मा गांधी चिकित्सालय

By: Suresh Jain

Published: 07 Sep 2021, 09:17 PM IST

भीलवाड़ा।
महात्मा गांधी चिकित्सालय को पहली बार तीन ईसीजी टेक्नीशियन मिले है। अब हाथों-हाथ एमओटी में भी ईसीजी की सुविधा मिल सकेगी। पहले ईसीजी नर्सिग कर्मचारी करते थे। अब यह सुविधा मिलने से मरीजो को राहत मिलेगी।
एमजीएच अधीक्षक डॉ. अरुण गौड ने बताया कि पहले नर्सिंग कर्मचारी ईसीजी करते थे। अब कोमल खटीक, अब्दुल कलाम तथा पवन कुमार देपन ने मंगलवार को कार्यभार ग्रहण किया। कलाम इनके प्रभारी होंगे। एक ईसीजी टेक्नीशियन एमओटी में सेवा देगा ताकि जरूरत पर तुरन्त मरीज की ईसीजी हो सके। एक अन्य टेक्नीशियन संविदा पर है जो डायलिसिस में कार्यरत है।
एमजीएच अधीक्षक डॉ. अरुण गौड ने बताया कि १०-१० बेड के दो और नए आईसीयू वार्ड की स्वीकृति मिल चुकी है। १० बेड का एनआईसीयू वार्ड एमसीएच में बनाया जाएगा। दस बेड का नया वार्ड एमजीएच में बनाया जाएगा। इधर, बुखार के मरीजों के लिए एमजीएच में पाइरेक्सिया वार्ड शुरू किया गया है। इस ४० बेड के इस वार्ड में लगभग सभी बेडों पर डेंगू, मलेरिया सहित सामान्य बुखार से पीडि़त मरीज भर्ती है।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned