अजमेर-चित्तौडग़ढ़ रेल मार्ग पर दौड़ सकेगी आमने सामने ट्रेन

Train will run face to face on Ajmer-Chittorgarh rail route अजमेर-चित्तौडग़ढ़ वाया भीलवाड़ा रेल मार्ग पर सब कुछ समय पर ठीक रहा तो एक नहीं दो रेलवे लाइन नजर आएगी। रेल मार्ग का दोहरीकरण होने की स्थिति में एक साथ दो ट्रेन आमने- सामने से गुजर सकेगी।

By: Narendra Kumar Verma

Published: 11 Oct 2021, 12:30 PM IST

भीलवाड़ा। अजमेर-चित्तौडग़ढ़ वाया भीलवाड़ा रेल मार्ग पर सब कुछ समय पर ठीक रहा तो एक नहीं दो रेलवे लाइन नजर आएगी। रेल मार्ग का दोहरीकरण होने की स्थिति में एक साथ दो ट्रेन आमने- सामने से गुजर सकेगी। उत्तर पश्चिम रेलवे ने इसके लिए रेल मार्ग का सर्वे ड्रोन व मेनुअल कर लिया है। रेलवे ने रेल मार्ग के अधीन सभी प्रमुख रेलवे स्टेशनों में होने वाले बदलाव का नक्शा भी जारी कर दिया है।

रेलवे मंत्रालय ने आम बजट २०१९-२० में अजमेर-चित्तौड़ के मध्य 186 किमी लम्बी रेल लाइन को वर्ष 2020-21 में डबल लाइन में परिवर्तित किए जाने की घोषणा की थी। इसी घोषणा के अनुरूप रेलवे ने रेल मार्ग का दोहरीकरण के कार्य को गति दी है। इसके तहत चितौडग़ढ़ के चंदेरिया से अजमेर के आदर्श नगर के मध्य स्थित रेल मार्ग का ड्रोन के जरिए सर्वे हो चुका है।

तकनीकी टीम का सर्वे

रेलवे के तकनीकी अधिकारियों ने भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन का जायजा लिया और यहां यार्ड में पांचवीं लाइन के बिछाने की स्थिति में किस प्रकार से स्टेशन का विस्तार किया जा सकता है, उसकी संभावना तलाश की। भीलवाड़ा खंड का तकनीकी टीम मैनुअल सर्वे कर चुकी है। रेलवे अब दोहरीकरण के कार्य के लिए बजट घोषणा का इंतजार कर रहे है।

पांचवी लाइन बिछेगी यार्ड में

भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन के यार्ड में अभी चार रेलवे लाइन है, इनमें एक रेलवे लाइन मालगाड़ी के लिए है। दोहरीकरण कार्य शुरू होने की स्थिति में यहां पूर्व दिशा में यानि स्टेशन मास्टर कक्ष के सामने एक और नई रेलवे लाइन खिंच जाएगी। यानि कुल पांच लाइन यहां यार्ड में हो जाएगी। पांच में से एक लूप लाइन होगी, जबकि एक लाइन का उपयोग वाशिंग लाइन के रूप में किया जाएगा जोकि स्टेबल लाइन के रूप में काम करेगी। पहले से स्थापित चार लाइनों के मध्य पांच-पांच मीटर की दूरी है, जबकि पांचवी जो कि अब बिछेगी, उसके मध्य की दूरी छह मीटर की रहेगी। यह पांचवी लाइन स्पेशल ट्रेन के उपयोग में भी आ सकेगी।

रेल के सभी डिब्बे होंगे कवर्ड
भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन पर यात्री ट्रेन के सभी कोचों यानि डिब्बों को अब प्लेटफार्म से कवर्ड किया जाएगा। अभी प्लेटफार्म पर आने वाली ट्रेन के १५ में से १६ कोच ही कवर्ड हो रहे थे, लेकिन रेलवे के यात्रियों को बारिश व धूप से बचाने के लिए ट्रेन के सभी कोचो को कवर्ड करने की घोषणा के बाद यहां रेलवे स्टेशन पर पूरे प्लेटफार्म को कवर्ड किया जा रहा है।

बुलेट की राह भी खुली
दिल्ली-जयपुर-उदयपुर-अहमदाबाद वाया भीलवाड़ा के मध्य बुलेट ट्रेन चलाने के लिए हाईस्पीड रेल कोरिडोर निर्माण के लिए डीपीआर भी बनाई गई है। भीलवाड़ा में बुलेट के मार्गों को चिंहिकरण व भूमि अवाप्ति के लिए जनसुनवाई भी गत माह हो चुकी है। इसी प्रकार रेलवे ने चित्तौडग़ढ़ से रतलाम रेल मार्ग के दोहरी करने की भी घोषणा की है।


दोहरीकरण से विकास के नए आयाम
अजमेर-चित्तौडग़ढ़ रेल मार्ग का दोहरीकरण कार्य रेलवे ने शुरू कर दिया है, रेल मार्ग में किस प्रकार से बदलाव होगा, उसका तकनीकी सर्वे हो चुका है। निर्माण कार्य से भविष्य में भीलवाड़ा को औद्योगिक विकास की राह मजबूत होगी। रेल मार्ग का विद्युतिकरण होने से समूचे देश से जुड़ाव भीलवाड़ा का रेल मार्ग से हो सकेगा।
सुभाष बहेडिय़ा, सांसद

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned