ऑनलाइन दर्शन कर महामंत्री को दी नम आंखों से विदाई

दोपहर 2 बजे तक बन्द रहे प्रतिष्ठान

By: Suresh Jain

Published: 30 Sep 2020, 06:01 AM IST

भीलवाड़ा
श्रमण संघीय महामंत्री सौभाग्य मुनि का हजारों श्रावक श्राविकाओं, साधु साध्वियों ने ऑनलाइन फेसबुक, जूम एप, यू ट्यूब के माध्यम से जुड़कर अंतिम दर्शन सौभाग्य दीक्षा स्थल कडिय़ा में कर नम आंखों से अंतिम विदाई दी। कोरोना कॉल के चलते अंतिम संस्कार हॉस्पिटल के कोरोना वॉरियर्स के माध्यम से ही किया गया। सरकारी गाइडलाइन के अनुसार अंतिम विदाई में शामिल नहीं होकर हजारों श्रावक-श्राविकाओं ने अपने-अपने स्थान पर रहकर ही नवकार जाप व स्वाध्याय कर गुरुदेव को मोक्षगामी बनने की मंगल कामना कर श्रद्धांजलि अर्पित की। शांति भवन में विराजित साध्वी मैना कंवर ने सोशल मीडिया से लाइव जुड़कर अंतिम दर्शन किए। उन्होंने कहा कि गुरुदेव के देवलोकगमन से मानो जिनशासन, श्रमण संघ, मेवाड़ संघ का सूर्य अस्त हो गया। गुरुदेव ने आकोला नगर की पावन धरा पर गांधी कुल में जन्म लेकर माता-पिता के नाम को गौरवान्वित किया। गुरुदेव अंबालाल की गादी को सुशोभित किया। मीडिया प्रभारी मनीष बंब ने बताया कि इस दौरान जैन समाज के प्रतिष्ठान दोपहर 2 बजे तक बंद रहे। श्रावकों ने घरों में ही रहकर धर्म आराधना व सामयिक कर श्रदांजली अर्पित की। बुधवार को शांति भवन में साध्वी मैना कंवर के सानिध्य में यश कंवर की पुण्य स्मृति व श्रमण संघीय महामंत्री गुरुदेव सौभाग्य मुनि के देवलोकगमन होने पर प्रात: 9 से 10 बजे तक नवकार महामंत्र का जाप कर श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी।
ऑनलाइन नवकार महामंत्र जाप
भीलवाड़ा . श्रमण संघीय महामंत्री सौभाग्य मुनि कुमुद की अंतिम विदाई के समय अध्यक्ष निर्मला भडकतिया व महामंत्री लाड मेहता की अध्यक्षता में दिवाकर मंडल की बहनों ने ऑनलाइन नवकार मंत्र का जाप किया। मीडिया प्रभारी मनीष बंब ने बताया कि ऑनलाइन गुरुदेव की अंतिम विदाई को देख कर आंखे धारा छलक पड़ी। सौभाग्य मुनि के देवलोक गमन से जैन समाज को बड़ी क्षति हुई है।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned