हमारी भी है फैमेली, फिर भी हम कर रहे सर्वे, सुरक्षा के क्या प्रबन्ध है

मास्क न ग्लब्स फिर भी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कर रही सर्वे

भीलवाड़ा

Corona virus साढ़े तीन से चार हजार घर। दो महिला आंगनबाड़ी कार्यकर्ता। दो आशा सहयोगिनी। प्रभारी के रूप में स्थानीय स्कूल की प्रभारी मेडम को लगा रखा है, लेकर तीन दिन से उसे भी नहीं देखा। तबीयत भी खराब हो रही है। फिर भी काम कर रहे है। प्रभारी अधिकारी फोन पर डरा धमका रहे है कि काम नहीं किया तो नोटिस दिया जाएगा। नौकरी से निकाल दिया जाएगा। साथी स्टाफ था वह भी आज नहीं आया। Corona virus अकेली ही सर्वे का काम कर रही हूं। काम के लिए कभी भी मना नहीं किया। हमे रूट चार्ट तक नहीं देते। सहयोग भी नहीं करते है। नोकरी सभी की है। काम के लिए आधी रात को भी तैयार है। लेकिन हमारी कोई सुरक्षा नहीं है। मास्क है न ग्लब्स है। फिर भी हमे काम जल्दी करने के लिए डराया जा रहा है, सुरक्षा के लिए कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है। जबकि भीलवाड़ा जिले में कोरोना वायरस का खौफ लगातार बढ़ रहा है। यह कहना है दांथल की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सुशीला पाराशर का।
सुशीला ने पत्रिका को बताया कि हम चार जने है। जो बिना किसी सुरक्षा के है। सुविधा कुछ भी नहीं है। शहर व जिले में भंयकर बीमारी चल रही है फिर भी काम करने को तैयार है। हमारी भी सुरक्षा चाहिए। हमारा भी परिवार है। सर्वे के दौरान मुखिया का नाम, सर्दी, जुकाम, खांसी है क्या तथा किस अस्पताल में उपचार के लिए गए इसके लिए अस्पताल की पर्ची भी देख रहे है। हमारे पास किसी तरह की दवा भी नहीं जो सर्वे के दौरान किसी को बुखार या जुकाम हो तो उसे दे सके। सुशीला को इस बात का खौफ है कि अगर कोई कोरोना पॉजिटिव आ गया तो प्रशासन फिर हमे भगाएगा। हम आंगनबाड़ी कार्यकर्ता आईसीडीएस में है, हम भी थोड़ा समझते है कि कौनसी दवा बुखार की है। हम भी परिवार वाले है। हम धुमकर आते है। हमारी सुरक्षा कौन करेगा। सर्वे मेडिकल विभाग से शुक्रवार से कर रहे है। अब रविवार से पुन: सर्वे कर रहे है। हम विभाग के आदेश की पालना करने तो तैयार है। कलक्टर साब भी बुलाए तो हम वहा भी आ जाएंगे। लेकिन सुरक्षा जरूरी है।
.............
सभी को मास्क व सेनेटाइजर दे रखे
सर्वे के कार्य में २२१७ आंगनबाड़ी व २२०० ही आशासहयोगिनी लगी है। इनकी सुरक्षा के लिए सेनेटाइजर व मास्क दिए गए है। यह सुविधा क्षेत्र की डिस्पेंसरी से उपलब्ध कराने के निर्देश विभाग से व सीएमएचओ से भी जारी कर रखे है। किसी के पास यह सुविधा नहीं है तो गंभीर बात है। इसकी जानकारी लेकर व्यवस्था करवाएंगे।
नगेन्द्रसिंह तोलम्बिया, सहायक निदेशक महिला एवं बाल अधिकारिता विभाग
.......................
महिलाओं की भी हो सुरक्षा
राष्ट्रीय आपदा में सभी महिला कार्यकर्ता काम कर रही है। उनकी सुरक्षा भी जरूरी है। इसके लिए पहले ही प्रशासन को अवगत कराया था। सभी कर्मचारियों को मास्क, सेनेटाइजर व ग्लब्स दिए जा रहे है तो आंगनबाड़ी को क्यों नहीं। इसकी शिकायत दर्ज कराएंगे।
प्रभाष चौधरी, प्रदेश उपाध्यक्ष भारतीय आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ भीलवाड़ा

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned