मिलेगी 5 करोड़ तक प्रोत्साहन राशि

आयकर विभाग ने चलाई विशेष योजना

By: Suresh Jain

Published: 18 Feb 2020, 10:04 PM IST

भीलवाड़ा
Income tax department केन्द्र सरकार का लगातार कम होते जा रहे टेक्स व राजस्व को बढ़ाने के लिए कई तरह की योजना बना रही है। आयकर विभाग में बकाया चल रहे ९ लाख करोड़ रुपए की राशि वसूलने के लिए विवाद से विश्वास योजना लागू की है तो अब काले धन की सटीक जानकारी देने वाले को ५ करोड़ रुपए तक की राशि देने की योजना शुरू की है। Income tax department सूचना देने वाले व्यक्ति की पहचान भी उजागर नहीं होगी। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि यह योजना कोई नई नहीं है, लेकिन इसमें कई तरह के नए प्रावधान किए गए है। इसमें टैक्स चोरी की पुख्ता सबूत देने होंगे। इसमें काली कमाई करने वाले व्यक्ति, उसकी काली कमाई का दूसरों के नाम पर निवेश या बेनामी प्रॉपर्टी की जानकारी पुख्ता रूप से देनी होगी।
आयकर विभाग को मिलने वाली इस गुप्त सूचना की प्रारंभिक पड़ताल कर गुप्त सूचना देने वाले व्यक्ति को मुखबिर कोड जारी करेगा। ताकि उसकी पहचान किसी को भी पता नहीं चल सके। सूचना देने वाले की पहचान इतनी गोपनीय रखी जाती है कि उसके बारे में संसद में सवाल पूछे जाने पर भी विभाग कोई जानकारी नहीं देता है। सोशल मीडिया जैसे वॉट्सएप, एसएमएस, पत्र, ई-मेल, सीडी के माध्यम से सूचनाएं भेजकर इनाम का दावा नहीं किया जा सकता है। इसके लिए सूचना देने वाले को खुद उपस्थित होकर पुख्ता साक्ष्य देने होंगे और अधिकारी को जरूरत पडऩे पर सहयोग करना होगा। अधिकारियों का कहना है कि काले धन को उजागर करने की दो योजनाएं हैं। इनमें एक सामान्य और दूसरी बेनामी लेन-देन या प्रॉपर्टी से संबंधित है। इन दोनों में ही आकर्षक प्रोत्साहन राशि देने के प्रावधान है।
विदेश में काले धन व टैक्स चोरी करने वालों रडार पर
आयकर विभाग इन्फॉर्मेंट्स रिवार्ड स्कीम में विदेश में काला धन, अघोषित संपत्ति का खुलासा करने में मदद करने वालों को प्रोत्साहित करने का प्रावधान है। टैक्स चोरी करने वालों के बारे में खास जानकारी दे सकते हैं। इसी तरह देश में अघोषित आय या संपत्ति से जुड़ी जानकारी के मामले में एक प्रतिशत राशि अंतरिम रिवॉर्ड के रूप में, जो 10 लाख रुपए तक भी हो सकती है देने का प्रावधान है। अघोषित आय के रूप में एक करोड़ या इससे अधिक मात्रा में नकदी जब्त कराने में मदद देने वाली सूचना पर अंतरिम रिवार्ड राशि 15 लाख रुपए तक भी हो सकती है। प्रोत्साहन राशि अन्य-अन्य मद के अनुसार पांच करोड़ तक मिल सकती है।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned