रैकिंग को बनाए रखने के लिए करनी होगी मेहनत

रैकिंग  को बनाए रखने के लिए करनी होगी मेहनत
Will have to work hard to maintain ranking in bhilwara

Suresh Jain | Updated: 20 Aug 2019, 11:05:44 AM (IST) Bhilwara, Bhilwara, Rajasthan, India

100 अंकों का होगा स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण। फीडबैक के मिलेंगे 35 अंक
2018 में देश में तीसरे स्थान पर था भीलवाड़ा

भीलवाड़ा।
'Swachh Survekshan Grameen-2019' 'स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2019Ó शुरू हो गया है। इस सर्वे में 100 अंकों में से तीन श्रेणी में अंक मिलेंगे। पूरे देश में 15 अगस्त से शुरू हुआ सर्वेक्षण 31 अगस्त तक चलेगा। इस बीच, केन्द्रीय टीम दौरे पर आ सकती है। भीलवाड़ा जिले को प्रथम स्थान पर लाने के लिए लोगों को एसएसजी एेप के माध्यम से फीड बैक देना होगा।

https://www.patrika.com/udaipur-news/swachhta-survekshan-2019-udaipur-ranking-4383526/


'Swachh Survekshan Grameen-2019' जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी गोपालराम बिरड़ा ने बताया कि देश के 698 जिलों में 17,450 गांवों को सर्वेक्षण में शामिल किया गया है। इसमें 87,250 स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्र, अस्पताल, हाट, धार्मिक स्थान शामिल होंगे। सर्वेक्षण के लिए नागरिकों का साक्षात्कार लिया जाएगा। एक स्वतंत्र एजेंसी सर्वेक्षण करेगी।

'Swachh Survekshan Grameen-2019' उन्होंने बताया कि जिले को खुले में शौचमुक्त घोषित किया गया है। पूरे देश को भी २ अक्टूबर तक खुले में शौचमुक्त घोषित कर स्वच्छता की श्रेणी में लाने की योजना है। सर्वेक्षण के पीछे मुख्य उद्देश्य ठोस-तरल अपशिष्ट प्रबंधन और प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित करना है। वर्ष २०१८ में हुए सर्वेक्षण के प्रति जिले के पांच लाख लोगों ने फीडबैक दिया था। इसके चलते भीलवाड़ा देश में तीसरे स्थान पर रहा था। पहले स्थान पर चित्तौडग़ढ़, दूसरे पर राजकोट रहा था।

एेप करना होगा डाउनलोड
'स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2019Ó के तहत लोगों को जागरूक कर एसएसजी एेप डाउनलोड करवा फीडबैक डालने के लिए कहा जाएगा। इसमें नागरिक प्रतिक्रिया के 35 अंक, प्रत्यक्ष अवलोकन के 30 अंक तथा सेवा स्तर प्रदाता के 35 अंक मिलेंगे। प्ले गूगल स्टोर से एसएसजी २०१९ मोबाइल एेप को डाउनलोड करना होगा। उसमें स्टेट राजस्थान, जिला भीलवाड़ा भाषा हिन्दी या अंग्रेजी में राय दी जा सकेगी। राय देने के बाद एेप डिलीट नहीं करना है। डिलीट करने पर फीडबैक को गिना नहीं जाएगा।

.........................
एेप मेंहोंगे ये चार सवाल
०१. क्या आप स्वच्छ सर्वेक्षण के बारे में जानते है?
उत्तर- हां या नहीं।
०२. एसबीएम के लागू होने से आपके गांव में सामान्य साफ-सफाई किस हद तक बेहतर हुई है?
उत्तर- हां-महत्वपूर्ण बेहतरी/सुधार-कोई शिकायत नहीं।
- हां-पिछले साल से ज्यादा सफाई
- हां-पिछले साल से केवल थोड़ा सा बेहतर
- कोई बदलाव नहीं
०३. क्या ठोस कूड़े के सुरक्षित निपटान के लिए गांव स्तर पर कोई प्रबन्ध किए गए हैं?
उत्तर- हां-गांव के सारे कूड़े का प्रबंध करने के लिए पर्याप्त हैं।
- हां- लेकिन गांव के सारे कूड़े का प्रबन्ध करने के लिए प्रर्याप्त नहीं है।
- हां- केवल कुछ घरेलू स्तर पर प्रबंध मौजूद है।
- कोई प्रबंध नहीं।
०४. क्या गीले कूड़े के सुरक्षित निपटान के लिए गांव स्तर पर कोई प्रबंध किए गए हैं?
उत्तर- हां- गांव की सर्वाजनिक जगह में ठहरे हुए गंदे पानी का प्रबंध करने के लिए पर्याप्त हैं।
- हां- लेकिन गांव की सार्वजनिक जगहों में ठहरे हुए गंदे पानी का प्रबंध करने के लिए पर्याप्त नहीं है।
- हां-घरेलू स्तर पर कुछ प्रबंध मौजूद है।
- कोई प्रबंध नहीं

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned