नौकरी नहीं जाने दूंगा, लेकिन जिम्मेदारी तय करनी होगी

सफाईकर्मियों से बोले सभापति पाठक

By: Suresh Jain

Updated: 20 Feb 2021, 10:13 PM IST

भीलवाड़ा।
नगर परिषद सभापति राकेश पाठक ने शनिवार को कहा कि शहर को साफ-सुथरा रखना मेरा पहला दायित्व है। इससे पीछे हटा तो पांच साल बाद फिर परीक्षा देनी है। तब जनता मुझे आउट कर देगी। ड्यूटी नहीं निभाने वाले सफाईकर्मियों के खिलाफ क्या होगा, यह भी कर्मचारियों को ही निर्धारित करना होगा। सफाईकर्मियों से कहा कि अपनी ड्यूटी निभाओ, अधिकारों के लिए लडऩा भी पड़ा तो पीछे नहीं हटूंगा। तुम्हारी नौकरी नहीं जाने दूंगा लेकिन कर्मचारी को जिम्मेदारी तय करनी होगी। मैं भी पांच साल सभापति हूं। वे पूर्वी क्षेत्र के सफाई कर्मचारियों से महाराणा प्रताप सभागार में सीधे संवाद कर रहे थे।
पाठक ने कहा कि शहर में कचरा स्टैंड कम होने चाहिए। जनसंख्या के आधार पर २४०० कर्मचारी का भार १२०० पर नहीं डाला जाएगा। जरुरत पड़ी तो संविदा पर सफाई कर्मचारी रखेंगे। ठेका प्रथा फिर लागू नहीं होने देंगे। पाठक ने कर्मचारियों की समस्या पांच मिनट में निपटाने का भरोसा दिलाया। ५५ ऑटो टिपर है १५ और मंगवाए है। यूआइटी क्षेत्र में एक भी कचरा स्टैंड नहीं है। उपसभापति रामलाल योगी, स्वच्छ भारत मिशन के प्रभारी पुष्पेन्द्र बैरागी, स्वास्थ्य अधिकारी अखेराम बडोदिया, अधिशासी अभियन्ता सूर्य प्रकाश संचेती, सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष राजेश मल्होत्रा व पार्षद उपस्थित थे। संचालन मुकेश शर्मा ने किया।
वार्ड ७० में जमादार १०४
राजू केसर चन्नाल ने कहा कि शहर में ७० वार्ड है, लेकिन जमादार १०४ है। सबको जमादार व इंस्पेक्टर बना देंगे तो झाडू कौन लगाएगा। यह परम्परा गलत है। पदोन्नति वरीयता के आधार पर होनी चाहिए। अब अन्य समाज के लोग भी सफाई के क्षेत्र में आ रहे हैं।
----
यह बताई दिक्कत
मंत्रालयिक कर्मचारी फेडरेशन अध्यक्ष शिवकुमार गारू ने कहा कि सफाईकर्मी हैंडकार्ड खींचकर एक किलोमीटर दूर कचरा स्टैंड तक ले जाते है। इससे परेशानी होती है। उनका स्वास्थ्य परीक्षण होना चाहिए। सबको मेडिकल सुविधा मिले। लोडर डम्पर कचरे को ढककर नहीं ले जाते है। इससे भी कचरा फैलता है।
कर्मचारियों ने कहा कि निजी चिकित्सालय संचालक रात के समय बायो मेडिकल वेस्ट जलाते हैं। गायत्री आश्रम के आस-पास बड़े शोरुम दिनभर कचरा फैलाते हैं। उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। मोमिन मोहल्ला में नाले से पानी की निकासी नहीं होती है। मजिस्ट्रेट कॉलोनी में नालियां नहीं है। मेन रोड पर कचरा स्टैण्ड होने से दिन भर कचरा सड़कों पर उड़ता रहता है।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned