बड़ा गड़बड़झाला : एक ही निर्माण को दो-दो बार दर्शा कर हड़प लिए 27 लाख रुपए

लहार विकासखण्ड के पृथ्वीपुरा ग्राम पंचायत में सरपंच व सचिव ने मिलकर किया घोटाला

By: हुसैन अली

Published: 26 Jun 2020, 10:55 PM IST

राजू त्रिपाठी @ लहार. भिण्ड जिले के लहार विकासखण्ड अंतर्गत ग्राम पंचायत पृथ्वीपुरा में सरपंच और सचिव ने मिलकर 27 लाख रुपए से अधिक का घोटाला कर दिया है। ग्राम पंचायत क्षेत्र में पांच साल पूर्व बनाई गई सडक़ों का निर्माण और तालाब का पुन: जीर्णोद्धार कार्य दर्शाकर लाखों का घालमेल कर लिया है। हैरानी की बात ये है कि इस गड़बड़ी की भनक न तो जनपद पंचायत कार्यालय में है और ना ही प्रशासन के अन्य अधिकारियों को कोई जानकारी है।

सीसी रोड, तालाब जीर्णोद्धार जैसे निर्माण कार्य पहले कराए ही नहीं गए हैं और जो कराए भी गए हैं तो उनकी गुणवत्ता को जांचने की जरूरत नहीं बल्कि गुणवत्तहीनता का अंदाजा देखने से ही लग जाता है। यहां बता दें कि पंचायत क्षेत्र अंतर्गत ग्राम चांदा में मसान बाबा के मंदिर से तुलाराम बघेल के मकान तक पांच साल पूर्व नाली सहित सीसी रोड बना दी गई थी। उक्त सडक़ को 07 अक्टूबर 2017 में निर्माण दर्शाकर चार लाख रुपए आहरण कर लिए गए। उपरोक्त सीसी रोड नाली निर्माण सहित मसान बाबा से राजेश बघेल के मकान तक दर्शाकर भुगतान लिया गया है, जबकि राजेश और तुलाराम पिता-पुत्र हैं जो एक ही घर में रह रहे हैं।

ऐसे दर्शाए गए फर्जी निर्माण कार्य और हड़पी गई धनराशि

05 सितंबर 2018 को अलग-अलग बिल के माध्यम से जिस रोड निर्माण कार्य के नाम पर 43326 रुपए, 27480 , 27318 एवं 95000 रुपए कुल मिलाकर 193484 १९३४८४ रुपए आहरण किए गए हैं। उक्त रोड नाली निर्माण सहित वृद्धपुरा में हरनेक शाक्य के घर से देव सिंह बघेल के घर तक दर्शाई गई है। उक्त रोड के लिए 289000 रुपए स्वीकृत हुए थे, जबकि रोड का निर्माण इंच भर भी नहीं किया गया है। इसी प्रकार 15 अप्रैल 2017 में 840000 रुपए रमलला मंदिर से शांतिधाम तक रोड निर्माण कार्य ग्राम चांदा में दर्शायाकर अहरण किए गए। विदित हो कि अन्य निर्माण कर्यों में भी सरपंच व सचिव द्वारा गुणवत्ताहीन सामग्री का उपयोग कर भ्रष्टाचार किया गया है।

जो तालाब और सडक़ पांच साल पूर्व के कार्यकाल में निर्माण कराए गए थे उन्हें पुन: निर्माण दर्शाकर धनराशि आहरण की गई है। न तो प्रशासनिक स्तर पर इस घोटाले को कोई देखने वाला नजर आ रहा है और ना ही कोई सुनने वाला।
सुरेश सिंह, ग्रामीण ग्राम चांदा

ये जो भी गड़बड़ी की गई है दूसरे सचिव के कार्यकाल में हुई, जिसके द्वारा मुझे अभी तक प्रभार नहीं सौंपे जाने के कारण ज्यादा जानकारी भी नहीं है। वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया है।
मुन्नालाल दिवाकर, सचिव ग्राम पंचायत पृथ्वीपुरा लहार

अभी तक इस मामले की मुझे शिकायत प्राप्त नहीं हुई है। यदि ऐसा है तो हम मामले की जांच करवाकर संबंधितों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई प्रस्तावित करेंगे।
आलोक प्रताप सिंह लिटोरिया, प्रभारी सीईओ जनपद पंचायत लहार

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned