प्रशासन ने डंप की रेत, माफिया ने बेची

प्रशासन ने डंप की रेत, माफिया ने बेची
प्रशासन ने डंप की रेत, माफिया ने बेची

Rajeev Goswami | Publish: Sep, 23 2019 06:31:15 PM (IST) Bhind, Bhind, Madhya Pradesh, India

पुलिस और खनिज विभाग ने ढाई सौ से अधिक रेत के डंप किए थे चिह्नित

भिण्ड (फूप). अवैध रेत खनन को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा किए जा रहे दावे खोखले साबित हो रहे हैं। क्षेत्र में रेत माफिया इस कदर हावी है कि वह पुलिस प्रशासन द्वारा डंप की रेत को भी खुर्दबुर्द कर रहा है। करीब आठ माह पूर्व प्रशासन द्वारा डंप किए गए रेत को भिण्ड जिले के फूप विकासखंड में माफिया करीब डेढ़ लाख घन मीटर रेत को बेच दिया है। यदि इस रेत की प्रशासन द्वारा नीलामी की जाती तो लाखों रुपए का राजस्व प्राप्त होता। लेकिन ऐसा हो नहीं सका। यहां बता दें कि जनवरी 2019 में सेंचुरी विभाग, रा’ास्व, पुलिस और खनिज विभाग की ओर से संयुक्त रूप से अभियान चलाया गया था। इसमें नदियों की ओर जाने वाले रास्तों की पड़ताल में ढाई सौ से अधिक रेत के डंप चिह्नित किए थे।

इन रास्तों पर हर 50 मीटर की दूरी पर अधिकारियों को चंबल का रेत डंप मिला था। कई ऐसे क"ों रास्तो पर भी माफिया को रेत डंप मिला था जहां पर पहुंचना भी आसान नहीं है। मंदिरों और स्कूल परिसरों में भी रेत के ढेर पाए गए थे। अधिकारियों ने उस समय चिह्नित रेत को नष्ट करने अथवा नीलाम करने का दावा किया था। लेकिन लंबा समय गुजर जाने के बाद भी अधिकारियों ने डंप रेत की सुध नहीं ली बल्कि अधिकारी एक दूसरे पर जिम्मेदारी डालते रहे। अधिकारियों की लापरवाही का फायदा उठाकर माफिया ने 90 फीसदी चिह्नित रेत को सप्लाई कर दिया है। पुलिस 8 माह में एक दर्जन ट्रैक्टर ट्राली तथा दो ट्रकों को अवैधरूप से परिवहन करते पकड़ चुकी है।

चंबल में रेत खनन पर प्रतिबंध, एक ट्रक रेत की क ीमत 60 हजार : श्योपुर से पंचनदा तक करीब 430 किमी का क्षेत्र घडिय़ाल सेंचुरी के लिए रिजर्व होने के कारण रेत का खनन पूर्ण रूप से प्रतिबंधित है। लेकिन इसके बाद भी खनन रुक नहीं पा रहा। सिंध के एक ट्रक रेत की कीमत 75 हजार रुपए हैं तो चंबल के रेत का ट्रक भी 60 हजार में आसानी से बिक जाता है। इटावा नजदीक होने के कारण माफिया को रेत खपाने में आसानी हो जाती है। क्योंकि रेत की खपत सबसे ’यादा इटावा में ही है।

-चंबल के रास्तों पर डंप रेत का निस्तारण करने के लिए टीम का गठन कर दिया है। बरसात का मौसम होने के कारण देरी हो गई है। पुलिस का सहयोग लेकर कार्रवाई की जाएगी।

प्रभू दयाल ग्रेवियाल डीएफओ चंबल सेंचुरी मुरैना

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned