शहर की रिहायशी बस्तियों में सजे बाजार

भिण्ड. अनुमति लिए बगैर ही बाजार से लगी दो दर्जन से अधिक बस्तियों के डेढ़ हजार आवासीय भवनों में दुकानें बनाकर कामर्शियल उपयोग किए जाने से नपा को लाखों

By: shyamendra parihar

Published: 11 Dec 2017, 05:32 PM IST

भिण्ड. अनुमति लिए बगैर ही बाजार से लगी दो दर्जन से अधिक बस्तियों के डेढ़ हजार आवासीय भवनों में दुकानें बनाकर कामर्शियल उपयोग किए जाने से नपा को लाखों का नुकसान उठाना पड़ रहा है। गृह स्वामियों द्वारा एक-एक दुकान से किराए के रूप में 5 से 12 हजार रुपए तक वसूल किए जा रहे हैं, जबकि नपा को आवासीय कर से ही संतोष करना पड़ रहा है। 30 साल पहले तक हाउसिंग कालोनी, महावीर गंज, भूता बाजार, बताशा बाजार, वनखंडेश्वर रोड, किला रोड, अटेर रोड, शास्त्री कालोनी, बीटीआई रोड, वाटरवक्र्स रोड, आर्यनगर रोड, लश्कर रोड़, बायपास, इटावा रोड सहित दो दर्जन से अधिक बस्तियों में जिन मकानों के सामने चबूतरे थे, वहां पर अब दुकानें तक कमर्शियल कंप्लेक्स नजर आने लगे हैं।

सड़क पर पडऩे वाले मकान मालिकों ने तो एक दो फीट तक सड़क पर ही कब्जा कर लिया है। सड़क सकरी हो जाने से शहर के प्रमुख बाजारों में ट्रैफिक को कंट्रोल कर पाना मुश्किल हो जाता है। कर निर्धारण के लिए वर्ष 2000 में सर्वे कराया गया था। इसके आधार पर तीन जोन बनाए गए थे, सभी क्षेत्रों के लिए अलग-अलग दरें निर्धारित की गई थी। कॉमर्शियल भवनों पर टैक्स आवासीय भवनों से डेढ़ गुना अधिक निर्धारित किया था। परंतु तीनों ही क्षेत्रों में गृह स्वामियों ने नपा से अनुमति लिए बगैर ही आवासीय भवनों में दुकानें या कॉमर्शियल हॉल बनवा दिए हैं इनकों पांच से 12 हजार प्रति माह की दर से किराए पर उठा दिया गया है। बीच बाजार में भी ऐसे कई मकान हैं जो नपा में तो आवासीय के रूप में दर्ज हैं लेकिन सालों से इनका उपयोग कामर्सियल के रूप में हो रहा है।

आय मेंं हो सकती है 40 से 45 लाख की बढ़ोत्तरी

नपा की ओर से यदि नए सिरे से सर्वे कराकर कर निर्धारण किया जाए और आवासीय भवनों का कामर्शियल यूज करने वालों से कर वसूली शुरू की जाए तो नपा की वार्षिक आय में 40 से 45 लाख तक की बढ़ोत्तरी संभव है। नपा की लापरवाही का आलम यह है कि पिछले 17 साल से संपत्ति-समेकित कर का निर्धारण ही नहीं किया गया है।

जोनवार निर्धारित गृह कर

जोन नं-०१

भवन की स्थित आवासीय कमर्शियल

(प्रति वर्ग फीट)

पक्का मकान १० १५

कच्चा मकान ०६ ०९

जोन-०२

पक्का मकान ०८ १३

कच्चा मकान ०५ ०८

जोन-०३

पक्का मकान ०५ ०७

कच्चा मकान ०३ ०४

(राशि रुपये प्रतिवर्ग किमी है।)

&सर्वे कराने के बाद ऐेसे मकानों को चिह्नित किया जाएगा, जिनको आवासीय से बदलकर कामर्शियल यूज किया जा रहा है। नोटिस जारी कर उक्त भवन स्वामियों से निर्धारित दर से कर वसूल किया जाएगा।

कलावती वीरेंद्र मिहोलिया अध्यक्ष नपा भिण्ड

Show More
shyamendra parihar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned