कोरोना गेम : जिस बीमारी की वजह से हैं घरों में कैद, उसी के नाम पर बनाया गेम, कर रहे टाइम पास

bhind city man make corona game for timepass during lockdown : बैठ-बैठे ख्याल आया की क्यों न कोरोना के नाम का एक खेल बनाया जाए। जिससे टाइम पास भी होगा व मानसिक रूप से कोरोना को हराने के लिगेम के माध्यम से हम सभी मजबूत भी होंगे....

भिंड. भिंड के युवक ने कोरोना के नाम का गेम बनाया है जिसे वह अपनी पत्नी व बच्चों के साथ खेलकर टाइम पास कर रहा है। युवक ने कहा की एक तो हम लोगों को घर में पैक होकर रहने की आदत नहीं है। लेकिन कोरोना जैसी जानलेवा बीमारी से घर में रहना की एक मात्र बचाव है जिसके चलते 22 तारीख से ही हम परिवार सहित घर के अंदर ही हैं। बैठ-बैठे ख्याल आया की क्यों न कोरोना के नाम का एक खेल बनाया जाए। जिससे टाइम पास भी होगा व मानसिक रूप से कोरोना को हराने के लिगेम के माध्यम से हम सभी मजबूत भी होंगे ।

भारत देश के साथ-साथ पूरे विश्व में कोराना की महामारी से स्वास्थ्य संकट खड़ा हुआ है। इसके बचाव के लिए हमें अपने घरों में रहना है और सुरक्षित रहना है । तो घर ही में रहना है घर से बाहर नहीं निकलना है इस बात को ध्यान में रखते हुए अपने बच्चों और परिवार जनों को यह बताना है और हमें इस 21 दिन के lockdown ke समय के भीतर हमें मार्केट खेल के मैदान बाहर का खेलना फालतू उठना बैठना बंद करना है और हमें घर के भीतर बैठकर ही इस कौराना गेम का आनंद लेना है बहुत इंटरेस्टेड और प्रेरणादायक गेम है । इस गेम में एक साथ एक व्यक्ति से लेकर पांच व्यक्ति खेल सकते हैं और 1 नंबर से प्रारंभ करें और 53 नंबर लास्ट है।

जिसमें घर में सुरक्षित lock down दर्शाया गया है 53 नंबर घर में पहुंचने पर ही आपको गेम का विजय माना जाएगा इसमें एक व्यक्ति को एक बार में एक ही चाली मिलेगी और लाल क्रॉस के निशान लगे घर में व्यक्ति गला माना जाएगा जाएगा उसे पुनः एक नंबर से अपनी चाल प्रारंभ करनी होगी कुछ घरों में खिलाड़ी को सुरक्षित माना जाएगा जैसे सैनिटाइजर सुरक्षा मार्क्स जीवनदान हैंड वास चांस पर खिलाड़ी को एक चल एक्स्ट्रा दी जाएगी लास्ट में 53 नंबर घर में लॉक डाउन लिखा है घर में पहुंचने पर ही आपको गेम का विजय वीर माना जाएगा इस गेम को हम लूडो के पासे या कागज की 6 पर्ची बनाकर भी खेल सकते हैं।

इस खेल को खेलते समय हम बच्चों को यह शिक्षा भी प्रदान कर सकते हैं। कॉलम को चाल चलते हुए बता सकते हैं कि हैंड वॉश करने से हमारे हाथों से सुरक्षा रहती है सैनिटाइजर करने से हमारे शरीर की सुरक्षा रहती हाथों की सुरक्षा रहती है। मार्क्स लगाकर बाहर जाते हैं तो संक्रमण मुंह व नाक से अंदर प्रवेश नहीं कर सकते हैं अन्य जो हमारे लिए खतरनाक हैं । जैसे भीड़ समूह मार्केट डेंजर इस समय बाहर घूमना फिरना या खेल खेलना खेल के मैदान की हमारे लिए खतरनाक साबित हो सकते इसलिए हम 53 नंबर के कॉलम में घर में रहकर ही पहुंचकर सुरक्षित है घर से बाहर नहीं निकलना

Gaurav Sen Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned