‘सात स्कूल ब्लास्ट होंगे, लोग मरेंगे, मजा आएगा, बचा लो कौन बचाएगा’

मेहगांव के स्कूल में नकली बम के साथ रखी थी चिट्ठी, सात घंटे तक रही दहशत

By: हुसैन अली

Published: 05 Sep 2020, 11:28 PM IST

मेहगांव. भदौरियाजी नमस्कार, बचा लो अपने और बाकी स्कूलों को। मैंने तुम्हारे स्कूल में ही नहीं मेहगांव के सभी बड़े स्कूलों में बम रख दिया है। सात स्कूल ब्लास्ट होंगे। बचा लो कौन बचाएगा। मेहगांव में कई जगह बम फटेंगे। लोग मरेंगे, मजा आएगा। पहले तुम बचो भदौरियाजी। इसके बाद बाजार फटेगा। नमस्ते-खुदा हाफिज, कई महीने से आ रहा हूं, जानकारी हो गई कौन कहां है।

यह चिट्ठी उस बम नुमा खिलौने के पास रखी थी जो शनिवार को मेहगांव के टीडीएस एकेडमी में रखा मिला। मेहगांव नगर के सात स्कूलों में ब्लास्ट की धमकी से न सिर्फ आम आदमी दहशतजदा हो गया बल्कि प्रशासन के आला अधिकारियों के भी हाथ-पांव फूल गए। सुबह करीब 9 बजे से दोपहर 03 बजे बम के नकली होने की हकीकत सामने आने तक लोगों पर खौफ का साया बना रहा।

टीडीएस एकेडमी संचालक वरुण भदौरिया के अनुसार शनिवार की सुबह 8.56 बजे कक्षा-11वीं का छात्र आकाश ढमोले प्रवेश संबंधी कार्य से आया। जाते वक्त उसने विद्यालय परिसर की गैलरी में बम जैसा कुछ पड़ा देखा तो वापस लौटकर अवगत कराया। वरुण भदौरिया ने स्वयं जाकर देखा तो डिब्बे के पास पड़ी चिट्ठी पढक़र उनके होश फाख्ता हो गए। ऐसे में उन्होंने सबसे पहले अपने पिता अरविंद भदौरिया को घटना की जानकारी दी। उसके बाद न केवल डायल 100 को कॉल किया गया बल्कि पुलिस तथा प्रशासन के आला अधिकारियों को भी सूचना दी।

स्कूलों में कराई सर्चिंग

संदिग्ध बम के पास मिले धमकी भरे पत्र को पढऩे के बाद एसडीओपी राजेश राठौर, थाना प्रभारी शिव सिंह यादव ने टीडीएस विद्यालय के अलावा शारदा विद्यापीठ, शासकीय कन्या विद्यालय एवं जागरण एकेडमी में सघन सर्चिंग की। हालांकि अन्य किसी स्कूल में कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला। बावजूद इसके ग्वालियर से बम निरोधक दस्ता आने तक सतर्क बने रहे। बम निरोधक टीम में निरीक्षक अजय पाराशर, उपनिरीक्षक यादवेंद्र तोमर, प्रधान आरक्षक जितेंद्र यादव, आरक्षक जितेंद्र सिंह, प्रबल प्रताप सिंह, संदीप सिंह यादव ने आकर कुछ ही देर में संदिग्ध बम की हकीकत सार्वजनिक कर दी। तदुपरांत अधिकारियों के अलावा आम लोगों ने भी राहत की सांस ली।

बम की सूचना पर ग्वालियर से बम निरोधी दस्ते को बुला लिया था। प्रोटोकोल को फॉलो करते हुए उसे खोला गया जो खिलौना मात्र पाया गया। उसके अंदर मिट्टी भरी थी। विवेचना की जा रही है। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धारा 506 के तहत जान से मारने की धमकी का केस दर्ज किया है।
मनोज कुमार सिंह, एसपी भिण्ड

मामले को गंभीरता से लिया गया था। सभी स्कूलों की सर्चिंग कराई गई। यह शरारत भरी हरकत थी। किसने किया और क्यों किया जांच पुलिस कर रही है। वीरेंद्र नवल सिंह रावत, कलेक्टर

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned