एक पखवाड़े में तीसरी बार बढ़ा चंबल का जलस्तर

एक पखवाड़े में तीसरी बार बढ़ा चंबल का जलस्तर

Rajeev Goswami | Publish: Aug, 14 2019 06:38:29 PM (IST) Bhind, Bhind, Madhya Pradesh, India

बारिश व कोटा बैराज से पानी छोडऩे का असर

कदौरा (अटेर). अटेर में चंबल नदी में बीते 15 दिन में तीसरी मर्तबा सोमवार शाम से फिर उफान आ गया है लेकिन फिलहाल बाढ़ जैसा कोई खतरा नहीं है। नदी का जलस्तर बढऩे की जानकारी मिलते ही अटेर एसडीओपी आरपी मिश्रा ने अटेर पुलिस थाना के जवानों के साथ सोमवार शाम को निर्माणाधीन पुल की साइट अटेर जैतपुर घाट पर पहुँच कर चंबल नदी का जायजा लिया ।

मालवांचल एवं राजस्थान में बीते दिनों हुई झमाझम वर्षा से कोटा बैराज में जलस्तर बढऩे एवं चंबल की सहायक पार्वती एवं कालीसिंध आदि नदियों तथा नालों में पानी बढऩे के चलते चंबल नदी के जलस्तर में भी बढ़ोतरी हो रही है ।

चंबल की सहायक नदियों-नालों मेंं वर्षा के कारण बढ़ रहे जल स्तर के साथ ही राजस्थान के कोटा बैराज से 4 से 5 हजार क्यूसेक पानी प्रतिदिन चंबल नदी में डिस्चार्ज किया जा रहा है, जिस कारण चंबल में जलस्तर बढ़ रहा है किंतु किनारे बसे गांवों के लिए किसी भी प्रकार का कोई खतरा नही है। अटेर एसडीओपी आरपी मिश्रा ने नदी का जायजा लेने के साथ ही अटेर थाना पुलिस को नदी में बाढ़ के हालात बनने पर सतर्क रहने व निकटवर्ती निचले गांवों के लोगों को तत्संबंधी सूचना करने के निर्देश दिए हैं।

-मालवांचल एवं राजस्थान में हो रही वर्षा से चंबल नदी की सहायक नदियों एवं नालो में पानी बढ़ गया है इसी से अटेर में भी चंबल नदी का जलस्तर बढ़ रहा है । फिलहाल पानी खतरे वाली कोई बात नही है। फिर भी नदी के घटते बढ़ते जलस्तर पर पुलिस व जिला प्रशासन बराबर नजर रखे है।

आरपी मिश्रा, एसडीओपी अटेर

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned